मांगलिक कार्य और क्रय विक्रय के लिए कल से शुरू हो रहा है शुभ समय, साल का दूसरा गुरु पुष्य नक्षत्र कल से

 23 Feb 2021 07:19 PM

भोपाल। क्रय-विक्रय और मांगलिक कार्य के लिए शुभ समय कल से शुरू हो रहा है। साल का दूसरा गुरु पुष्य नक्षत्र कल से शुरू होने से शुभ कार्य शुरू किए जा सकते हैं। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक इस नए साल का दूसरा गुरु पुष्य योग 25 फरवरी को रहेगा। इसके एक दिन पहले दोपहर साढ़े 12 बजे पुष्य नक्षत्र योग शुरू हो जाएगा। ज्योतिषाचार्यों ने बताया कि माघ शुक्ल पक्ष तिथि 12 प्रदोष व्रत 24 फरवरी दिन में 11. 24 बजे से पुष्य नक्षत्र का शुभारंभ होगा। जो 25 फरवरी को दिन में 12.01 मिनट तक सर्वार्थ सिद्धि एवं अमृत सिद्धियोग रहेगा।

क्रय-विक्रय एवं मांगलिक कार्य के लिए शुभ समय:

  • 24 फरवरी दोपहर -11:24 से 12: 00 तक ‘शुभ’ , दिन - 3: 00 से 4:30 तक ‘चर’, दिन - 4:30 से 6:00 तक ‘लाभ’, रात्रि - 7:30 से 9:00 तक ‘शुभ’, रात्रि - 9:00 से 10:30 तक ‘अमृत’,
  • 25 फरवरी - सुबह 6:00 से 7:30 ‘शुभ’, सुबह 10:30 से 12:00 ‘चर’, सर्वार्थ सिद्धि एवं अमृत सिद्धि सूर्योदय से 12 बजकर 01 मिनट तक रहेगा।

भगवान श्री राम का जन्म नक्षत्र पुष्य है। नक्षत्रों का राजा भी कहा जाता है। इस नए साल का दूसरा गुरु पुष्य योग 25 फरवरी को रहेगा। इसके एक दिन पहले दोपहर 12:30 बजे पुष्य नक्षत्र योग प्रारंभ हो जाएगा।