शनिवार के दिन गलती से भी ना करें ये चीजें, इन मंत्रों के जाप से होगा फायदा

 02 Jan 2021 02:04 PM

आज शनिवार है। आज के दिन हिंदू धर्म में कर्म फलदाता शनिदेव की अराधना करना शुभ माना जाता है। पौैराणीक मान्यताओं के अनुसार शनिदेव ही संसार के सभी मनुष्यों को अपने कर्मों का फल देते हैं। उन्हें प्रसन्न कर कोई भी व्यक्ति कर्मों का फल प्राप्त करने के साथ ही जीवन के कष्टों से मुक्ति पाई जा सकती है।
जो लोग रोजगार की समस्या से परेशान है या निर्धन हैं या किसी पारिवारिक दिक्कत का सामना कर रहे हैं तो  उन्हें शनिदेव का पूजन करने की सलाह दी जाती है। शनिवार के दिन कुछ विशेष मंत्रों के साथ शनिदेव का पूजन किया जाए तो भगवान प्रसन्न होते हैं और भक्तों को आशीर्वाद देते हैं। आइए जानते हैं शनिवार के दिन किन खास मंत्रों और विधि से शनिदेव का पूजन करना चाहिए।

इन मंत्रों का करे जाप -
ॐ शं शनैश्चराय नम: 
ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:
ॐ शन्नो देविर्भिष्ठय: आपो भवन्तु पीतये सय्योंरभीस्रवन्तुन:

शनिवार को ना करे यह गलतीयां 

  • शनिदेव की पूजा कभी भी मूर्ति के सामने से नहीं करनी जानी चाहिए। हमेशा शनि की पूजा बगल से की जानी चाहिए। 
  • शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा हमेशा उसी मंदिर में करें। इससे तार्त्पय है की जहां पर उनकी प्रतिमा शिला के रूप में विराजमान हों।
  • प्रतीक रूप में शमी के या पीपल के वृक्ष की आराधना करनी चाहिए। 
  • शनि देव की पूजा करते वक्त सरसों के तेल का दीपक जलाना शुभ माना जाता है, लेकिन बिना किसी कारण शनि शिला पर सरसों को तेल नहीं डालना चाहिए।