अक्षय तृतीया के दिन करें इन चीजों का दान, मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा, देखें दिन का सबसे शुभ मुहूर्त

 14 May 2021 10:53 AM

भोपाल। आज अक्षय तृतीया का पावन पर्व है। हिंदू धर्म में इस तिथि का बहुत अधिक महत्व होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस तिथि पर दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है। इस पावन दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा भी की जाती है। इस दिन माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा करने से सभी मनोकामानाएं पूरी हो जाती हैं। आइए जानते हैं इस दिन किन चीजों का दान करने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है...

जल पात्र का दान करना शुभ होता है
अक्षय तृतीया के पावन दिन जल पात्र का दान करना शुभ माना जाता है। इस पावन दिन गिलास, घड़ा, इत्यादि चीजों का दान करना चाहिए। इन चीजों का दान करने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

मीठी चीजों का दान करें
अक्षय तृतीया के पावन दिन मीठी चीजों का दान भी किया जाता है। मीठी चीजों का दान करने से समस्याओं का निवारण होता है। 

जौ का दान करें
इस पावन दिन जौ दान करने का बहुत अधिक महत्व होता है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार जौ को सोने के समान माना गया है। 

अन्न दान करें
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अन्न दान करने का बहुत अधिक महत्व होता है। इस पावन दिन अन्न दान जरूर करें। जरूरतमंद लोगों की क्षमता के अनुसार मदद करें।

अक्षय तृतीया पर दिन का सबसे शुभ मुहूर्त
अक्षय तृतीया यानी आखा तीज पर शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी का पूजन कई गुना फल प्रदान करता है। आज अक्षय तृतीया है। इस दिन एक बेहद शुभ संयोग बन रहा है। 

अक्षय तृतीया का महत्व इसलिए है क्योंकि इस दिन दान और पूजा का फल दोगुना होकर प्राप्त होता है। इस दिन सोने और चांदी से बने आभूषण खरीदे जाते हैं, क्योंकि ऐसा माना गया है कि जितनी खरीदारी की जाती है, उसका कई गुना आने वाले साल में प्राप्त होता है।

इस साल तृतीया तिथि का आरंभ 14 मई को सुबह 05:38 बजे से हो जाएगा। तृतीया तिथि 15 मई सुबह 07:59 बजे तक रहेगी.
अक्षय तृतीया पर पूजा का बेहद शुभ मुहूर्त सुबह 05:38 बजे से दोपहर 12:18 बजे तक का रहेगा। ये करीब
06 घंटे 40 मिनट की अवधि है।

इस दिन मां लक्ष्मी के मंत्र का जप करें-
ॐ नमो भाग्य लक्ष्म्यै च विद्महे अष्ट लक्ष्म्यै च धीमहि तन्नौ लक्ष्मी प्रचोदयात्।।

इसके बाद मां लक्ष्मी की आरती करें. उन्हें सफेद रंग की चीजों का भोग लगाएं. और सुख-शांति-संपन्नता का आशीर्वाद मांगे।