नौतपा आज से 2 जून तक: पढ़ें इसका धार्मिक और वैज्ञानिक दृष्टिकोण, यास चक्रवात के कारण कई राज्यों में हो सकती है बारिश

 25 May 2021 10:37 AM

नई दिल्ली। सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करने के साथ ही आज से नौतपा की शुरुआत होगी। आज सूर्य कृतिका से रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेगा और 8 जून तक इसी नक्षत्र में रहेगा। सूर्य के नक्षत्र बदलते ही नौतपा शुरू हो जाएगा। यानी अगले 9 दिनों तक तेज गर्मी रहेगी। इसकी वजह यह है कि इस दौरान सूर्य की सीधी किरणें धरती पर पड़ती हैं। आज दोपहर करीब एक बजकर 18 मिनट पर सूर्यदेव रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में होकर वृष राशि के 10 से 20 अंश तक रहता है तब नौतपा होता है। वहीं, मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में आने वाले यास चक्रवात की वजह से कई राज्यों में आने वाले दिनों में बारिश हो सकती है।

महिलाएं लगाती हैं मेहंदी
परंरपरा के अनुसार नौतपा के दौरान महिलाएं हाथ पैरों में मेहंदी लगाती हैं। क्योंकि मेहंदी की तासीर ठंडी होने से तेज गर्मी से राहत मिलती है। इन दिनों में पानी खूब पिया जाता है और जल दान भी किया जाता है ताकि पानी की कमी से लोग बीमार न हो। इस तेज गर्मी से बचने के लिए दही, मक्खन और दूध का उपयोग ज्यादा किया जाता है। इसके साथ ही नारियल पानी और ठंडक देने वाली दूसरी और भी चीजें खाई जाती हैं।

धर्म में नौतपा का वर्णन
सनातन धर्म में सूर्य देवता का विशेष स्थान है। ज्योतिषाचार्य बताते हैं कि श्रीमदभागवत में नौतपा का वर्णन मिलता है। सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में रहता है उस काल को नौतपा कहते हैं। हालांकि सूर्य का रोहिणी नक्षत्र में परिभ्रमण 14 दिन का है, लेकिन शुरुआती नौ दिनों में काफी गर्मी रहती है। इस कारण इसे नौतपा कहते हैं।

नौतपा का वैज्ञानिक दृष्टकोण
वैज्ञानिक दृष्टिकोण के अनुसार इस दौरान सूर्य की किरणें पृथ्वी पर सीधी पड़ती हैं। इसके चलते पृथ्वी का तापमान बढ़ जाता है। अधिक गर्मी के चलते मैदानी क्षेत्रों में निम्न दबाव का क्षेत्र बनता है और समुद्र की लहरें आकर्षित होती हैं। इससे अच्छी बारिश की संभावनना होती है।

2015 में 42.3 डिग्री पहुंचा था पारा
पिछले दस वर्षों में नौतपा के दौरान आठ बार तापमान 40 डिग्री के पार पहुंचा है। 2015 में सर्वाधिक 42.3 डिग्री पारा रिकॉर्ड किया गया। जबकि सबसे कम तापमान 2016 में रहा था। तब 28 मई को तापमान 36.5 डिग्री पहुंचा था। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक 25 मई से दो जून तक शुरुआत में तापमान ज्यादा रहने की संभावना है। इसके बाद मौसम बदलने के कारण तापमान में कमी आ सकती है।

नौतपा में 10 वर्षों का सर्वाधिक पारा

वर्ष   तापमान  
26 मई, 2011 38.0
28 मई, 2012 41.7
27 मई, 2013 41.2
30 मई, 2014 40.5
25 मई, 2015 42.5
28 मई, 2016 36.5
2 मई, 2017 40.5
27 मई, 2018 41.0
31 मई, 2019 42.0
27 मई, 2020 41.0