नया वर्ष 2021: कर्क राशि वाले जानें कैसा रहेगा आपके लिए यह साल....

 31 Dec 2020 01:17 PM

कर्क-    (ही, हू हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
व्यवसाय: इस वर्ष गोचर के ग्रहयोग अच्छा फल दे रहे हैं, गुरू और शनि समय-समय पर परेशानियां पैदा करते हैं, परन्तु निवारण भी हो जाता है। वहीं गोचर के अन्य ग्रहयोगों के प्रभाव से ग्रह आपके लिये कुछ कमी के साथ अनुकूल रहेंगे, इसके कारण आपके रूके हुए कार्यों में नये सिरे प्रगति के परिणाम मिलने में थोड़ा समय लगेगा, आप इस वर्ष अपने व्यवसाय में ऐसे उपक्रम नए सिरे से शुरू करना चाहेंगे, व्यवसायिक लाभ आपको मई से आगे के समय में देखने को मिलेगायदि आपकी पदोन्नति रूकी है और उस पर अपील इत्यादि लंबित है तो जनवरी से मई के बीच आपके पक्ष में निर्णय हो सकता है बेरोजगारों को नये रोजगार के बेहतर अवसर प्राप्त होने का योग है, इस वर्ष कारोबार की दृष्टि से समय अच्छा रहेगा।

धन-सम्पत्ति: आपको इस वर्ष काफी समय से रूके हुये धन की प्राप्ति होने या विवादास्पद लेनदारी प्राप्त होने का योग है, यदि नौकरी में एरियर, फण्ड, पेंशन इत्यादि के मामले अटके हुये हैं, तो जनवरी से मई के बीच आपके पक्ष में मामले निपट जायेंगे, स्थायी संपत्ति के नवीनीकरण पर भी इस शरद ऋतु में काफी व्यय हो सकता है, इससे कारोबार में कार्य कुशलता बढ़ेगी, दूसरी ओर किरायेदारी इत्यादि से अतिरिक्त आमदानी के साधन भी प्राप्त होंगे।
घर परिवार:-इस वर्ष परिवार में एक से अधिक मांगलिक कार्य होने का संयोग उपस्थित होगा, संतान पक्ष की उन्नति से जुडे़ हर्ष का प्रसंग भी वर्ष के उत्तरार्ध में हो सकता है. वर्षान्त में विवाह, संतान से जुडे़ शुभ कार्य होने का प्रबल योग है। 

स्वास्थ्य: वर्ष के आरंभ में आपको लीवर संबंधी व्याधि, भूख में कमी, अपच आदि के संकेत मिल सकते हैं, यदि आपका जन्म का शनि कमजोर है तो आपको कन्धे, कमर और जोड़ों की तकलीफ हो सकती है, मई के बाद आपका स्वास्थ्य अधिकतर ठीक रहेगा।

परीक्षा प्रतियोगिता: यदि आप रिसर्च कार्य से जुड़ना चाहते हैं तो जनवरी से नई संभावनाएं आपका स्वागत करेंगीं, उच्चतर शिक्षा में यदि सीट के लिये विवाद है तो यह आपके पक्ष में वर्ष के पूर्वार्ध में सुलझ जायेगा. जनवरी से मई के बीच पढ़ाई में एकाग्रता की कमी कई कारणों से हो सकती है।

यात्रा प्रवास तबादला: यदि आप नौकरी में बाहर तबादले पर हैं और घर वापिसी के लिये प्रयत्नशील हैं तो जनवरी से जून के बीच आप घर के निकट स्थानांतरण पाने में सफल रहेंगे, यदि आपकी पत्रिका में जन्म का गुरू प्रबल है तो आप पदोन्नति और अधिक सुख सुविधाओं को प्राप्त कर सकेंगे तथा वांछित तबादला भी कराने में सफल रहेंगे। 

धार्मिक कार्य ग्रहशांति: आपको कोई उच्च कोटि का साधक सिद्धि प्रदायक मंत्र अथवा साधना दे सकता है, गुरू मंत्र का जप करना, मोती धारण करना लाभकारी है।
 

- ज्योतिषाचार्य पं. नारायणशंकर नाथूराम व्यास, कोतवाली बाजार, जबलपुर (म.प्र.)
मो. नं0 98266-21998