होली दहन में राशि के अनुसार दें आहुति ताकि जीवन में रहे सुख-शांति

 23 Mar 2021 02:36 PM

उज्जैन। फाल्गुन माह की पूर्णिमा को होलिका दहन के साथ ही होली का उत्सव शुरू हो जाता है। होली दहन को परंपरा के अनुसार हमेशा शुभ मुहूर्त में करना चाहिए। शुभ योग में होली पूजा करने से जीवन में सुख, शांति के साथ समृद्धि पाने की कामना पूरी होती है। आम दिनों कीा तरह होली दहन के दिन भी राहुकाल और भद्रा में पूजा करना मना होता है।  

होलिका दहन 2021 का समय-
पंचांग के अनुसार, 28 मार्च को होलिका दहन का शुभ मुहूर्त शाम 6 बजकर 37 मिनट से रात 8 बजकर 56 मिनट तक रहेगा। इसके अगले दिन होली खेली जाएगी।

होलिका दहन के दिन बन रहे ये अशुभ मुहूर्त-
राहुकाल - शाम 5:06 से 6:37 बजे तक
यम गण्ड -  दोपहर 12:32 से 2:03 बजे तक
कुलिक -  दोपहर 3:34 से 5:06 बजे तक
दुमुर्हूर्त - शाम 04:59 से  05:48 बजे तक
वर्ज्यम - रात 01:06 से 02:32 बजे तक

होली जलाने के साथ-साथ यह भी जरूरी है कि होली में किस वस्तु की आहुति दी जाए ताकि हमारे जीवन में सुख-शांति रहे। इसके लिए अलग-अलग राशियों के लोगों को अलग-अलग चीजों की आहुति देनी चाहिए। आइए राशि के अनुसार जानते हैं किस राशि के लोगों को किस चीज की आहुति देनी चाहिए ...
मेष और वृश्चिक राशि के लोग गुड़ की आहुति दें। 
वृष राशि वाले चीनी की आहुति दें।
मिथुन और कन्या राशि के लोग कपूर की आहुति दें।
कर्क के लोग लोहबान की आहुति दें। 
सिंह राशि के लोग गुड़ की आहुति दें। 
तुला राशि वाले कपूर की आहुति दें। 
धनु और मीन के लोग जौ और चने की आहुति दें।
मकर व कुंभ वाले तिल को होलिका दहन में डालें।