9 मार्च को भगवान विष्णु की आराधना का दिन विजया एकादशी

 27 Feb 2021 05:53 PM

उज्जैन। फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को विजया एकादशी कहा जाता है। इस साल विजया एकादशी 09 मार्च को है। मान्यता है कि इस एकादशी का व्रत रखने से भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त होता है और कष्टों से मुक्ति मिलती है। एकादशी का अपना अलग महत्व है। कहा जाता है कि जो मनुष्य एकादशी का व्रत रखता है उसके पितृ और पूर्वज कुयोनि को त्याग स्वर्ग लोक चले जाते हैं।

एकादशी तिथि आरंभ- 08 मार्च 2021 दिन सोमवार दोपहर 03 बजकर 44 मिनट से
एकादशी तिथि समाप्त- 09 मार्च 2021 दिन मंगलवार दोपहर 03 बजकर 02 मिनट पर 
विजया एकादशी पारणा मुहूर्त- 10 मार्च को 06:37:14 से 08:59:03 तक।

कैसे करें उपास:
-सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद साफ वस्त्र धारण करके एकादशी व्रत का संकल्प लें। घर में पूजा करने से पहले एक वेदी बनाकर उस पर 7 अनाज अर्पण करें। वेदी पर कलश स्थापना करें। वेदी पर भगवान विष्णु की तस्वीर रखें। भगवान को पीले फूल, ऋतुफल और तुलसी दल समर्पित करें और आरती करें। शाम के समय भगवान की आरती उतारने के बाद फलाहार ग्रहण करें। रात के समय भजन-कीर्तन करते हुए जागरण करें। अगले दिन सुबह किसी ब्राह्मण को भोजन कराएकर दान करें। इसके बाद खुद भी भोजन कर व्रत खोलें।