WTC Final में आज कुछ भी हो सकता है :  फेंके जाएंगे 98 ओवर, कोहली-पुजारा क्रीज पर, मौसम भी साफ

 23 Jun 2021 10:03 AM

नई दिल्ली। भारत और न्यूजीलैंड के बीच जारी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल मैच में रोमांच बरकरार है। रिजर्व डे में यानी आज 98 ओवर फेंके जाने हैं। मैच उस मोड़ पर आ पहुंचा है जहां से या तो ड्रॉ होगा या फिर किसी एक टीम के हाथ बाजी लग सकती है।

छठे दिन यानी रिजर्व डे में बारिश का कोई अनुमान नहीं है। ऐसे में उम्मीद है कि रिजर्व डे में फैंस को पूरे दिन का खेल देखने को मिल सकता है। बारिश की वजह से पांचवें दिन का खेल आधे घंटे की देरी से शुरू हुआ। गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत ने न्यूजीलैंड को पहली पारी में 249 रन पर समेट दिया। कीवी टीम को पहली पारी में 32 रन की बढ़त हासिल हुई।

इस समय भारतीय टीम दूसरी पारी में बल्लेबाजी कर रही है। भारत ने ओपनर शुभमन गिल और रोहित शर्मा के विकेट गंवाकर 64 रन बना लिए हैं। टीम इंडिया के पास 32 रन की लीड है।

टीम इंडिया को जीत के लिए करना होगा यह काम
कप्तान विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा की जोड़ी क्रीज पर है। टीम इंडिया को इन दोनों से काफी उम्मीदें होंगी। यदि टीम इंडिया को जीत के लिए जाना तो कोहली और पुजारा को तेजी से रन बनाने होंगे। पुजारा 12 और कोहली 8 रन बनाकर खेल रहे हैं।

इसके अलावा भारत को अजिंक्य रहाणे से पहले ऋषभ पंत को बैटिंग में आगे भेजना होगा जो तेजी से रन बना सकते हैं। यदि टीम इंडिया कीवी टीम के सामने 180 से 200 के आसपास का लक्ष्य रखती है तो गेंदबाजों पर दारोमदार आ जाएगा। टीम इंडिया के बल्लेबाजों को यह भी देखना होगा कि वह अपने गेंदबाजों को पर्याप्त समय दे। यदि यह टेस्ट ड्रॉ होता है तो दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित कर दिया जाएगा।

न्यूजीलैंड के पास मौका
भारत के पास कुल 32 रन की बढ़त है। और उसे 8 विकेट लेने हैं। न्यूजीलैंड की कोशिश होगी कि वह भारतीय टीम को जल्दी से जल्दी आउट करे। उसके गेंदबाज अगर ऐसा करने में सफल हो जाते हैं तो कीवी टीम जीत के लिए जा सकती है। न्यूजीलैंड अगर भारतीय टीम को 150 के आसपास रोक लेती है तो उसके पास मौका होगा कि तेजी से रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर ले। यानी मैच में अभी भी यह तय नहीं है कि कौन बनेगा चैंपियन।

ऐसा रहेगा मौसम
रिजर्व डे के दिन बारिश की संभावना नहीं है। मैदान पर धूप खिली रहने की उम्मीद है। मैच का पहला और चौथा दिन बारिश की वजह से पूरी तरह धुल गया था जबकि दूसरे और तीसरे दिन भी बारिश और खराब रोशनी की वजह से मैच में कई बार खलल पड़ा।