मिनी ‘अस्पताल’ लगने लगा भारतीय ड्रेसिंग रूम

 13 Jan 2021 02:25 AM

नई दिल्ली। सिडनी क्रिकेट मैदान पर टीवी कैमरों की जर जब भी भारतीय ड्रेसिंग रूम की तरफ गई, रविचंद्रन अश्विन या तो बालकनी में खड़े दिखे या रेलिंग पर टिके हुए नजर आए लेकिन एक बार भी वह बैठे नहीं । दर्शर्कों को लगा कि आस्ट्रेलियाई आक्रमण के सामने चेतेश्वर पुजारा और ऋषभ पंत की बल्लेबाजी को देखते हुए सीनियर खिलाड़ी होने के नाते वह तनाव में होंगे लेकिन असलियत उनकी पत्नी प्रीति के ट्वीट से पता चली । अश्विन की कमर में भीषण दर्द था और वह पिछली रात इसकी वजह से सो भी नहीं सके थे । ब्रिसबेन में चौथे टेस्ट से पहले भारतीय ड्रेसिंग रूम मिनी अस्पताल' लगने लगा है । कोच शास्त्री और कप्तान अजिंक्य रहाणे के सामने समस्या फिट 11 खिलाड़ियों को एकत्र करने की है क्योंकि चोटिल खिलाड़ियों की सूची में मयंक अग्रवाल और जसप्रीत बुमराह का नाम भी शामिल हो गया है। बुमराह टेस्ट से बाहर हो गए।

होटल में टीम इंडिया को मूलभूत सुविधाएंभी नहीं

आस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और आखिरी टेस्ट के लिए ब्रिसबेन पहुंची भारतीय क्रिकेट टीम को मंगलवार को ऐसे होटल में ठहराया गया जिसमें मूलभूत सुविधायें भी नहीं थी और इसके बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड के शीर्ष अधिकारियों को दखल देना पड़ा । समझा जाता है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह और सीईओ हेमांग अमीन ने शिकायतें मिलने के बाद क्रिकेट आस्ट्रेलिया के अधिकारियों से संपर्क किया । उन्हें आश्वासन दिया गया है कि भारतीय टीम को वहां कोई परेशानी नहीं होगी । बोर्ड के एक सीनियर सूत्र ने बताया होटल में रूम सर्विस या हाउसकीपिंग ही नहीं है ।

सॉरी सिराज और भारतीय टीम , नस्लवाद स्वीकार्य नहीं : वॉर्नर

सिडनी। आस्ट्रेलिया के अनुभवी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने भारतीय खिलाड़ियों खासकर मोहम्मद सिराज पर तीसरे टेस्ट के दौरान की गई नस्लवादी टिप्पणियों की निंदा करते हुए कहा कि दर्शर्कों का ऐसा बर्ताव स्वीकार्य नहीं है । पहली बार आस्ट्रेलिया दौरे पर गए सिराज के अलावा जसप्रीत बुमराह को भी लगातार दो दिन दर्शकों की नस्लीय टिप्पणियों का शिकार होना पड़ा । चौथे दिन तो कुछ देर खेल रोकना भी पड़ा जब भारतीय टीम ने अंपायरों से शिकायत की । इसके बाद छह दर्शकों को मैदान से निकाल दिया गया और क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने माफी मांगी । वॉर्नर ने इंस्टाग्राम पर लिखा मैं मोहम्मद सिराज और भारतीय टीम से माफी मांगना चाहता हूं । नस्लवाद या दुर्व्यवहार कहीं भी और कभी भी स्वीकार्य नहीं है ।