आईपीएल-14: चेन्नई में आज होगी नीलामी, 292 प्लेयर्स शॉर्टलिस्ट

 18 Feb 2021 09:50 AM

चेन्नई। इंडियन प्रीमियर लीग  के 14वें सीजन के लिए आज दोपहर 3 बजे से चेन्नई में नीलामी होगी। नीलामी के लिए 292 प्लेयर्स को शॉर्टलिस्ट किया गया है। जिनमें से 164 भारतीय और 125 विदेशी हैं। हालांकि, सभी 8 टीमों के पास सिर्फ 61 खिलाड़ियों का स्लॉट खाली है। ऑक्शन की शुरुआत बल्लेबाजों से होगी। इसके बाद ऑलराउंडर्स, विकेटकीपर्स और बॉलर्स पर बोली लगेगी। ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल और इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोइन अली पर बड़ी बोली लगने की उम्मीद है।

आरसीबी को सबसे ज्यादा 11 और सनराइजर्स हैदराबाद को सबसे कम तीन खिलाड़ियों का चयन करना है। कोरोना के चलते आईपीएल पिछले साल यूएई में हुआ था। अब इसका आयोजन भारत में होगा जिससे सभी का ध्यान बिग हिटर और धीमी गति गेंदबाजों पर लगा होगा जिसमें मैक्सवेल और मोइन पूरी तरह से फिट बैठते हैं।

प्लेयर्स की बेस प्राइज
अनकैप्ड खिलाड़ियों के लिए अब 20, 30 और 40 लाख की बेस प्राइज तय की गई है। वहीं, कैप्ड खिलाड़ियों को 5 अलग-अलग बेस प्राइस 50 लाख, 75 लाख, 1 करोड़, 1.5 करोड़ और दो करोड़ में रखा गया है। कैप्ड प्लेयर्स वह होते हैं, जो अपने देश के लिए टेस्ट, वनडे, टी-20 में से किसी भी एक इंटरनेशनल फॉर्मेट में खेले हों।

एक टीम में मैक्सिमम और मिनिमम कितने खिलाड़ी होंगे?
सभी फ्रेंचाइजी अपनी टीम में मैक्सिमम 25 और मिनिमम 18 खिलाड़ी रख सकती हैं। किसी भी टीम में ज्यादा से ज्यादा 8 विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं। अभी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के पास सबसे कम 14 खिलाड़ी और सनराइजर्स हैदराबाद के पास सबसे ज्यादा 22 खिलाड़ी हैं।

खिलाड़ी खरीदने के लिए पंजाब के पर्स में सबसे ज्यादा रुपए
इस सीजन में फ्रेंचाइजी का सैलरी पर्स (बजट) पिछले सीजन की तरह 85 करोड़ ही है। यानी कोरोना की वजह से इस बार सैलरी बजट में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है, जबकि 2019 में यह बजट 80 करोड़ और 2018 में 66 करोड़ रुपए था। इस बार पंजाब के पास खिलाड़ियों को खरीदने के लिए सबसे ज्यादा 53.20 करोड़ रुपए हैं। नियमों के तहत टीम का न्यूनतम खर्च 60 करोड़ होना चाहिए यानी सैलरी कैप वैल्यू का 75%।

राइट टू मैच कार्ड का इस्तेमाल हो सकता है
राइट टू मैच कार्ड के जरिए फ्रेंचाइजी अपने पुराने खिलाड़ी को नीलामी में वापस हासिल कर सकती हैं। इसके लिए उन्हें नीलामी में खिलाड़ी पर लगी सर्वाधिक बोली के बराबर की कीमत चुकानी होगी। उदाहरण के लिए राजस्थान रॉयल्स ने स्टीव स्मिथ को इस सीजन में रिटेन नहीं किया है। नीलामी के दौरान अगर किसी फ्रेंचाइजी ने उन पर सबसे बड़ी बोली लगाई तो राजस्थान राइट टू मैच कार्ड का इस्तेमाल कर उन्हें अपनी टीम में ले सकती है। अधिकतम 5 खिलाड़ियों को फ्रेंचाइजी इसके जरिए  रिटेन कर सकती हैं।

2 करोड़ बेस प्राइस वाले स्लॉट में इंग्लैंड के 5 प्लेयर
2 करोड़ रुपए बेस प्राइस वाले प्लेयर्स में भारत के हरभजन सिंह और केदार जाधव शामिल हैं। इस लिस्ट में ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर ग्लेन मैक्सवेल और स्टीव स्मिथ भी हैं। इंग्लैंड के सबसे ज्यादा 5 खिलाड़ियों मोइन अली, सैम बिलिंग्स, लियाम प्लंकेट, जेसन रॉय और मार्क वुड को लिस्ट में जगह मिली। एक नाम बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब अल हसन का भी है।

इस बार नीलामी में मैक्सवेल और शाकिब के अलावा काइल जेमिसन पर भी बड़ी बोली लग सकती है। अनकैप्ड भारतीय प्लेयर्स में केरल के मोहम्मद अजहरुद्दीन और सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन पर भी फ्रेंचाइजीज पैसा लुटा सकती हैं। यह 5 प्लेयर्स सभी को चौंका सकते हैं।