पृथ्वीराज, केनान और लक्ष्य ने ट्रैप मुकाबले में जीता स्वर्ण

 28 Mar 2021 11:25 PM

नई दिल्ली। भारत ने रविवार को दो और स्वर्ण पदक के साथ अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) विश्व कप में अपने अभियान को अब तक के सबसे अधिक पदकों के साथ खत्म किया। तोक्यो ओलंपिक से पहले राइफल और पिस्टल निशानेबाजों के आखिरी बड़े अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के पदक तालिका में शीर्ष पर काबिज भारत ने 15 स्वर्ण सहित 30 पदक अपने नाम किये। इसमें नौ रजत और छह कांस्य पदक शामिल हैं। आखिरी प्रातियोगिता भारत के केनान चेनाई, पृथ्वीराज टोंडाइमान और लक्ष्य श्योराण ने आईएसएसएफ विश्व कप की पुरूष टीम ट्रैप स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया। इससे पहले श्रेयसी सिंह, राजेश्वरी कुमारी और मनीषा कीर ने महिला टीम ट्रैप स्पर्धा के फाइनल में कजाखस्तान को 6-0 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने कजाखस्तान की सारसेंकुल रिसबेकोवा, ऐजान दोस्मागामबेतोवा और मारिया दिमित्रियेंको को पछाड़ा। विजयवीर सिद्धू, गुरप्रीत सिंह और आदर्श सिंह को 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल टीम स्पर्धा में रजत पदक से संतोष करना पड़ा। अमेरिका के केथ सैंडरसन, जैक होबसन लेवरेट और हेनरी टर्नर लेवरेट ने 10-2 से स्वर्ण पदक जीता। पुरूष टीम ट्रैप के फाइनल में स्लोवाकिया के मिशेल स्लामका, फिलिप मारिनोव और एड्रियन ड्रोबनी की टीम ने 2-0 की बढ़त कायम कर ली थी लेकिन फिर भारतीय टीम ने वापसी करते हुए स्कोर 2-2 और 4- 4 से बराबर किया। निर्णायक दौर में भारतीय निशानेबाजों ने दो अंक जुटा कर 6-4 से मुकाबला अपने नाम कर लिया। कांस्य पदक के मुकाबले में कजाखस्तान की एक अन्य टीम ने कतर को हराकर पदक हासिल किया। विक्टर खसयानोव, मैक्सिम कोलोमेट्स और एंड्री मोगिलेवस्की की कजाखस्तान की टीम ने कतर के मुहम्मद अल-रौमीह, सैयद अबुशारिब और नासिर अली अल हमीदी को 6-4 से हराया।