रहाणे ने केक काटकर मनाया जीत का जश्न

 22 Jan 2021 01:04 AM

नई दिल्ली-मुंबई। कायर्वाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में आस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के अधिकतर सदस्य गुरुवार को स्वदेश पहुंच गये। रहाणे, मुख्य कोच रवि शास्त्री, स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा, तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर और सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ मुंबई जबकि ब्रिसबेन टेस्ट के नायक ऋषभ पंत तड़के दिल्ली पहुंचे। पहले नेट गेंदबाज के रूप में चुने गये लेकिन बाद में एक दौरे के दौरान तीनों अंतरराष्टय प्रारूपों में पदार्पण करने वाले पहले क्रिकेटर बने तेज गेंदबाज टी नटराजन बेंगलुरू गए जहां से वह तमिलनाडु में अपने गांव सलेम जाएंगे। चेन्नई के रहने वाले अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, युवा आलराउंडर वाशिंगटन सुंदर और गेंदबाजी कोच भरत अरुण अभी दुबई में हैं और उनके शुक्रवार की सुबह स्वदेश पहुंचने की संभावना है। रहाणे, शास्त्री, रोहित, शार्दुल और शॉ का मुंबई पहुंचने पर मुंबई क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने स्वागत किया। रहाणे ने टीम की जीत का जश्न मनाने के लिए केक भी काटा। कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद भारत ने मंगलवार को ब्रिसबेन में चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हराकर श्रृंखला 2-1 से जीती और इस तरह से बोर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखी।

भारतीय क्रिकेट में खुद की पहचान बनाना चाहते हैं पंत

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी से तुलना से खुश हैं लेकिन उन्होंने गुरुवार को कहा कि आस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला में अहम भूमिका निभाने के बाद वह खेल में अपनी अलग पहचान बनाना चाहते हैं। पंत की अक्सर दो बार के विश्व विजेता कप्तान धोनी से तुलना की जाती रही है। धोनी ने पिछले साल अंतरराष्टय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। ब्रिसबेन में चौथे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में नाबाद 89 रन की मैच विजेता पारी खेलने वाले पंत ने अस्ट्रेलिया से यहां पहुंचने के बाद पत्रकारों से कहा, जब आपकी तुलना धोनी जैसे खिलाड़ी से की जाती है तो बहुत अच्छा लगता है और आप मेरी तुलना उनसे करते हैं। उन्होंने कहा, यह शानदार है लेकिन मैं नहीं चाहता कि मेरी किसी से तुलना की जाए। मैं भारतीय क्रिकेट में अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं क्योंकि किसी युवा खिलाड़ी की किसी दिग्गज से तुलना करना सही नहीं है।

भारत के पास प्रतिभा को निखारने की उचित व्यवस्था : हफीज

कराची। पाकिस्तान के सीनियर क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने आस्ट्रेलिया में भारतीय टीम की टेस्ट श्रृंखला में जीत की सराहना करते हुए कहा कि प्रतिभा को निखारने की उचित व्यवस्था के कारण ही यह संभव हो पाया। हफीज ने कहा कि वर्तमान समय में अंतरराष्टय क्रिकेट में बने रहने के लिये प्रतिभा ही पर्याप्त नहीं है तथा युवाओं के कौशल को उचित तरीके से निखारना अधिक महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में प्रतिभाशाली क्रिकेटरों को निखारने की अच्छी व्यवस्था नहीं है। हफीज ने पत्रकारों से कहा, मैंने इस श्रृंखला का पूरा आनंद लिया। भारतीय टीम का मनोबल गिरा हुआ था लेकिन उसने श्रृंखला में जिस तरह से शानदार वापसी की वह लाजवाब थी। उन्होंने कहा, भारत 36 रन पर आउट होने और अपने कप्तान की अनुपस्थिति के बावजूद भी इसलिए वापसी कर पाया क्योंकि उसके नये और युवा खिलाड़ियों को अच्छी तरह से तैयार किया गया है।