दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम 'मोटेरा' का कल राष्ट्रपति करेंगे उद्धाटन, तीसरा टेस्ट मुकाबला भी शुरू होगा; जानें मैदान की खूबियां

 23 Feb 2021 10:41 AM

अहमदाबाद। भारत और इंग्लैंड के बीच चार टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में कल यानी 24 फरवरी से खेला जाएगा। यह मुकाबला डे-नाइट टेस्ट के रूप में पिंक बॉल से होगा। इस नए स्टेडियम का उद्घाटन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा किया जाएगा। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहेंगे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कल से गुजरात के दो दिन के दौरे पर जाएंगे। राष्ट्रपति मंगलवार को गांधीनगर में गुजरात के केंद्रीय विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि होंगे। इसके अलावा 24 फरवरी को अहमदाबाद में मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे।

टेस्ट सीरीज की तो फिलहाल दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर है। शुरूआती दो टेस्ट चेन्नई में खेले गए थे। पहला मैच इंग्लैंड ने 227 रन तो दूसरा टेस्ट मेजबान भारत ने 317 रन के रिकॉर्ड अंतर से जीता था। यह टीम इंडिया की रनों के लिहाज से इंग्लैंड पर सबसे बड़ी जीत थी।

मोटेरा स्टेडियम में क्या है खास

700 करोड़ की लागत से बना
करीब 700 करोड़ रुपए की लागत से बने इस स्टेडियम में ओलिंपिक साइज का स्विमिंग पूल भी है। स्टेडियम में 4 ड्रेसिंग रूम हैं। 63 एकड़ में पूरा स्टेडियम परिसर है। इसके अलावा बॉक्सिंग, बैडमिंटन, टेनिस के लिए अलग से कोर्ट बने हुए हैं। इतना ही नहीं, हॉकी और फुटबॉल फील्ड भी इसी परिसर में हैं।

360 डिग्री स्टेडियम
हम आमतौर पर क्रिकेट स्टेडियम में देखते हैं कि दर्शक हमेशा आगे की लाइन में ही बैठना पसंद करते हैं, क्योंकि इससे मैच बिना किसी रुकावट के देखा जा सकता है। वहीं, मोटेरा स्टेडियम की खासियत यह है कि स्टेडियम के बीच में एक भी पिलर या अन्य कोई अड़चन नहीं है। इसका मतलब है कि किसी भी स्टैंड में बैठकर मैच का लुत्फ उठाया जा सकता है।

11 मल्टीपल पिच
गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के जॉइंट सेक्रेटरी अनिल पटेल ने बताया, 'मोटेरा की 11 पिच में से 5 के निर्माण में लाल मिट्टी और बाकी 6 में काली मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। मोटेरा में मेन ग्राउंड के अलावा, दो प्रैक्टिस ग्राउंड भी हैं। दोनों में 9-9 मल्टीपल पिच हैं। इनमें भी 5 पिचें लाल मिट्टी और 4 काली मिट्टी से बनाई गई हैं।'

76 कॉपोर्रेट बॉक्स
स्टेडियम में 76 कॉपोर्रेट बॉक्स हैं। वीआईपी इन्हीं कॉपोर्रेट बॉक्स में बैठकर मैच का लुत्फ उठाएंगे। हर एक बॉक्स में 25 सीटें हैं। इसका मतलब है कि स्टेडियम में बड़ी हस्तियों के लिए 1900 सीटें आरक्षित हैं। इसके अलावा, हर एक स्टैंड में फूड और हॉस्पिटैलिटी की व्यवस्था है, जिससे किसी भी कोने में बैठे दर्शक को ये सुविधा मिल सकेगी।

बारिश: 30 मिनट में सूख जाएगा मैदान
आमतौर पर यही होता है कि बारिश रुकने के काफी देर तक भी मैच स्टार्ट नहीं होता, क्योंकि इसके बाद पूरे स्टेडियम को सुखाना पड़ता है। यह समस्या मोटेरा स्टेडियम में नहीं आएगी, क्योंकि यहां सब सॉइल ड्रेनेज सिस्टम ही इस तरह बनाया गया है कि इसे मात्र 30 मिनट में ही सुखा लिया जाएगा। यानी कि 8 सेमी तक बारिश होने पर भी मैच रद्द नहीं होगा।

एलईडी लाइट्स का उपयोग
अभी तक हमने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में ही एलईडी लाइट्स का इस्तेमाल देखा है, लेकिन ऐसा अब मोटेरा स्टेडियम में भी देखा जा सकता है। एलईडी लाइट्स का उपयोग करने वाला भारत का यह पहला स्टेडियम होगा। एलईडी लाइट्स के इस्तेमाल से परछाई नजर नहीं आएंगी।

4 ड्रेसिंग रूम
स्टेडियम के साथ यहां 4 ड्रेसिंग रूम हैं। यह इस सुविधा के साथ दुनिया का एकमात्र स्टेडियम है। हर एक ड्रेसिंग रूम से जिम्नेशियम अटैच्ड है। स्टेडियम में 6 इनडोर पिच हैं, जहां बॉलिंग मशीनों की भी फैसिलिटी है।

मोटेरा क्लब हाउस
मोटेरा में अत्याधुनिक क्लब हाउस भी है, जिसमें 50 डीलक्स रूम और पांच सूट रूम, इनडोर और आउटडोर गेम्स, रेस्तरां, ओलिंपिक साइज का स्वीमिंग पूल, जिम्नेशियम, पार्टी एरिया, 3डी प्रोजेक्टर थियेटर/टीवी रूम हैं।

अन्य खेलों के लिए कोचिंग क्लासेज भी
भविष्य के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए यहां क्रिकेट अकादमी भी तैयार हो रही है। इसके अलावा फुटबॉल, हॉकी, बास्केटबॉल, कबड्डी, बॉक्सिंग, लॉन टेनिस, रनिंग ट्रैक जैसे अन्य खेलों के लिए भी स्पोर्ट्स अकादमी बनाई जाएगी।

अब तक मेलबर्न था सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम
इससे पहले दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न का नाम शुमार था। मोटेरा स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख 10 हजार है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की क्षमता एक लाख दर्शक है। ऐसे में मोटेरा दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है। हालांकि, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम का दर्जा प्राप्त करने के लिए स्टेडियम में इतने दर्शक मौजूद होने चाहिए।