दलितों पर आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में युवराज सिंह को हाईकोर्ट से राहत, जानें क्या है मामला

 26 Feb 2021 11:41 AM

चंडीगढ़। दलितों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह पर पिछले साल जून में एफआईआर दर्ज की गई थी। इस मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए युवराज ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसकी सुनवाई गुरुवार को हुई और पूर्व क्रिकेटर को इसमें राहत मिल गई है। हाईकोर्ट ने इस मामले में हरियाणा सरकार को नोटिस जारी करते हुए फिलहाल युवराज सिंह के खिलाफ कोई कड़ी कार्रवाई न करने के निर्देश दिए हैं।

हरियाणा के हांसी में 2 जून को युवराज सिंह के खिलाफ शिकायत दायर की गई थी कि उन्होंने दलित वर्ग को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। लंबे समय तक यह शिकायत विचाराधीन रही और लगभग 8 महीने बाद 14 फरवरी को हरियाणा पुलिस ने युवराज के खिलाफ एसी-एसटी एक्ट में एफआईआर दर्ज की।

अब इस मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए क्रिकेटर ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अग्रिम जमानत दिए जाने की मांग की है। इसके साथ ही उन्होंने एफआईआर खारिज किए जाने और याचिका के विचाराधीन रहते गिरफ्तारी पर रोक लगाने की मांग की है। अपनी याचिका में उन्होंने कहा है कि उन्होंने ऐसी कोई आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की और उन पर लगाए गए आरोप निराधार हैं।