उज्जैन में नदी में कार गिरी: भाभी-देवर के शव मिले, पति लापता; दो महीने पहले ही शादी हुई थी

 24 Jan 2021 09:48 PM

उज्जैन। जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर उज्जैन-बड़नगर रोड पर खड़ोतिया गांव में पुल की रेलिंग तोड़कर गंभीर नदी में गिरी कार सवारों में दो शव खोज लिए गए हैं। हादसे में नवविवाहिता, उसके देवर की मौत हो गई, जबकि उसका पति लापता है। उसकी तलाश की जा रही है। यह हादसा रविवार सुबह करीब 8 बजे हुआ। नदी में करीब 37 फीट पानी है। सर्च आॅपरेशन के दौरान गोताखोर चुंबक लेकर पानी में कूदा। इसके बाद नदी में कार का पता चल पाया।
बिहार के सिवान के रहने वाले अविनाश कुमार, अनुराग कुमार तिवारी और प्रियंका तिवारी तीन दिन पहले घर से कार (यूपी 78 जीएच 6324) से बड़ोदरा के लिए निकले थे। वहां वे अपने भाई अभय तिवारी से मिलने जा रहे थे। इस दौरान तीनों दो दिन कानपुर में रुके। शनिवार शाम कार से वड़ोदरा के लिए रवाना हुए। अभय के मुताबिक रात करीब 10:30 बजे उसकी अविनाश से बात हुई थी। अभय ने तीनों को उज्जैन में रुककर महाकाल के दर्शन करने के लिए भी कहा था, जबकि उन्होंने बात नहीं मानी। इसके बाद प्रियंका की भी रात 11:30 बजे अपनी मां से बात हुई थी। अभय ने सुबह 5 बजे फिर कॉल किया। इस दौरान तीनों के मोबाइल बंद मिले। अभय के मुताबिक सुबह 6 बजे तक तीनों को बड़ोदरा पहुंच जाना चाहिए था।

अभय के साले अमित कुमार सिन्हा ओडिशा के कटक में डीआईजी हैं। उन्होंने तुरंत अमित को इस बारे में बताया। जांच के दौरान तीनों के मोबाइल की लोकेशन सुबह के समय उज्जैन में मिली। इसके बाद डीआईजी ने तुरंत उज्जैन आईजी से संपर्क किया। अविनाश बेंगलुरु में प्राइवेट जॉब करता था। उसकी शादी 30 नवंबर 2020 को ही कानपुर में रहने वाली प्रियंका से हुई थी। 27 नवंबर को ही कानपुर से गाड़ी खरीदी गई थी। अभय भी वड़ोदरा में प्राइवेट जॉब करता है। अभय के मुताबिक उनके पिता हार्ट पेशेंट हैं, इसलिए उन्हें हादसे के बारे में फिलहाल नहीं बताया गया है।