मुरैना में बाप-बेटे खेत में बनाते थे जहरीली शराब, गुमटियों पर खपाते थे, गांव की गलियों में बिखरे मिले क्वार्टर

 13 Jan 2021 12:48 PM

मुरैना। जहरीली शराब पीने से अब तक 20 लोगों की मौत हो गई है। मानपुर गांव के घरों के आगे शव रखे थे। गांव वाले बताते हैं कि मानपुर गांव से 2 किमी दूर एक खेत है। यहां गांव के ही बाप-बेटे ने अवैध देशी शराब बनाने की फैक्टरी लगा रखी है। उसके इस कारोबार में एक युवक का भी हाथ है। इसी खेत में अवैध देशी शराब को प्लास्टिक के क्वार्टरों में भरकर सप्लाई किया जाता है। यह शराब मानपुर, विसंगपुर, छैरा, सुमावली के इलाकों में लोग जमकर पीते हैं।

घटना के बाद गुमटियों में भरी शराब को अपने साथ लेकर तस्कर भाग गए हैं, लेकिन नशे के कारोबार के निशान छोड़ गए हैं। गांव की गलियों में शराब के क्वार्टर बिखरे पड़े हैं। ग्रामीण बताते हैं कि सालों से यहां अवैध शराब बनाने और बेचने का कारोबार खुलेआम चल रहा है। 

हाईवे किनारे बनी गुमटियों और दुकानों पर खुलेआम शराब बिकती है लेकिन आबकारी विभाग और बागचीनी पुलिस ने कभी कोई बड़ा एक्शन नहीं लिया। लोग बताते हैं कि हमारे यहां 50-50 रुपए में क्वार्टर मिलते हैं। इधर, जिन 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज की है, उनमें 6 आपस में पिता-पुत्र हैं।