इंदौर: अस्पताल की लिफ्ट गिरने से बाल-बाल बचे कमलनाथ; शिवराज ने हाल जाना, मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए

 21 Feb 2021 08:55 PM

इंदौर। इंदौर के डीएनएस अस्पताल की लिफ्ट गिरने से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बाल-बाल बच गए। हादसा उस वक्त हुआ, जब वे अस्पताल में एडमिट पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल से मिलने जा रहे थे। लिफ्ट में सवार होते ही एक झटका लगा और लिफ्ट नीचे गिर गई। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस विधायक सज्जन वर्मा, जीतू पटवारी समेत अन्य नेता भी लिफ्ट में सवार थे। हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं है।

इस घटना के बाद मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से फोन पर चर्चा कर उनका हाल पूछा है। इस मामले में सीएम शिवराज सिंह के निर्देश के बाद कलेक्टर द्वारा मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं। एसडीएम हिमांशु चंद्र इस मामले की जांच करेंगे। कुछ दिन पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान भी मंत्रालय की लिफ्ट में फंस गए थे। तब दो इंजीनियर को सस्पेंड किया गया था।

लिफ्ट की क्षमता 15 लोगों की थी, जबकि उसमें 20 लोग सवार हो गए। लिफ्ट गिरने पर कमलनाथ की तबीयत बिगड़ गई। घबराहट होने पर अस्पताल में ही उनका ब्लड प्रेशर चेक किया गया। 

 

हादसे के बाद अचानक अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई। तत्काल बचाव कार्य शुरू किया गया। लिफ्ट के इंजीनियर को भी बुलाया गया। काफी मशक्कत के बाद सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। बाद में पूर्व सीएम कमलनाथ सीढ़ियों के सहारे अस्पताल की तीसरी मंजिल पर गए और पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल का हाल जाना। घटना को लेकर पूर्व विधायक पटेल के बेटे सत्यनारायण ने बताया कि किसी को चोट नहीं आई। यह मामूली घटना थी।

कांग्रेस के संभागीय सम्मेलन में आए थे कमलनाथ
नगरीय निकाय चुनाव से पहले कांग्रेस ने इंदौर में संभागीय सम्मेलन आयोजित किया है। रविवार को पूर्व सीएम कमलनाथ इंदौर में चल रहे संभागीय सम्मेलन में शामिल हुए थे। इसके बाद उन्हें पता चला कि पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल इंदौर के अस्पताल में भर्ती हैं। वे सम्मेलन से निकलने के बाद अस्पताल पहुंचे थे।