मध्यप्रदेश: मुरैना में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत, परिजनों ने शवों को रखकर सड़क जाम की

 12 Jan 2021 03:30 PM

मुरैना जिले में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस मामले में अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है। परिजनों ने मृतकों के एमएस रोड पर शव रखकर सड़क जाम कर दी और प्रदर्शन किया। परिजनों की मांग है कि मृतकों के परिवार वालों को 20 लाख रुपए और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। साथ ही शराब माफियाओं के साथ मिलकर काम करने वाले अधिकारियों पर उचित कार्रवाई की जाए। 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और मामले की जांच के आदेश दिए। प्रथम दृष्टया सुपरविजन में लापरवाही करने पर डिस्ट्रिक्ट एक्साइज अफसर को सस्पेंड किया गया है। जांच के बाकी तथ्य जैसे ही आएंगे, जो भी दोषी होंगे, वो छोड़े नहीं जायेंगे। हम कठोर कार्रवाई करेंगे। 


वहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि थानेदार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मौके पर वरिष्ठ अधिकारी पहुंच गए हैं और अलग से एक जांच दल भी जा रहा है। कोई भी दोषी होगा कितना भी बड़ा हो बख्शा नहीं जाएगा।

 

क्या है मामला
बिलैयापुरा गांव निवासी अमर सिंह पुत्र बुद्धाराम जाटव (40) ने मंगलवार सुबह दम तोड़ दिया है। इसके पहले सोमवार को बागचीनी थाना क्षेत्र के मानपुर पृथ्वी गांव में जहरीली शराब से जीतेंद्र यादव की हालत बिगड़ गई थी। स्वजन उसे गंभीर हालत में ग्वालियर इलाज के लिए ले जाने लगे, रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। जीतेंद्र का शव लेकर स्वजन गांव पहुंचे तब पता चला कि गांव में शराब पीने से ध्रुव यादव, सिरनाम, दीपेश, बृजकिशोर, दिलीप शाक्य, धर्मेंद्र यादव, राजकुमार यादव समेत अन्य की भी तबीयत बिगड़ गई है। कुछ देर बाद ध्रुव यादव, दिलीप शाक्य और केदार यादव की भी मौत हो गई है। गांववालों के मुताबिक इन्होंने ओपी केमिकल से बनी हुई शराब पी थी। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर देर रात पहुंची।

मानपुर छैरा के मृतक
राम कुमार किरार पिता छोटेलाल
धर्मेंद्र सिंह पिता रामजीलाल
दिलीप शाक्य पिता राम चंद्र शाक्य
जितेंद्र जाटव पिता पातीराम जाटव
सरनाम किरार पिता अमर सिंह किरार
केदार जाधव पिता हुकुम सिंह जाटव
मुकेश पिता साहब सिंह किरार

पावली गांव के मृतक
बंटी पुत्र पंजाब
जितेंद्र पुत्र पंजाब
रामनिवास पुत्र सिद्धार्थ