मप्र: कोरोना की वैक्सीन आ गई, 16 जनवरी से श्रीगणेश; मगर इन हेल्थ वर्कर्स को नहीं लगाया जाएगा टीका

 13 Jan 2021 09:17 PM

भोपाल। कोरोना वैक्सीन को लेकर प्रदेश वासियों का इंतजार खत्म हो गया है। सबसे पहले भोपाल में बुधवार सुबह कोरोना वैक्सीन के 94 हजार डोज इंडिगो की फ्लाइट के जरिए लाए गए। यहां एयरपोर्ट पर एयरकार्गो टर्मिनल पर वैक्सीन के कार्टून उतारे गए। स्वास्थ्य विभाग की टीम विशेष वाहन से 8 कार्टून के साथ कमला पार्क स्थित रीजनल ड्रग सेंटर लेकर पहुंची।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताया गया कि पहले चरण में 16, 18, 20 और 23 जनवरी को वैक्सीनेशन किया जाएगा। प्रदेश में 4.16 लाख हेल्थ वर्कर्स हैं। इनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए पूरा ऐहतियात बरता जाएगा। इसके लिए एक गाइडलाइन तय की है।

इन्हें नहीं लगाया जाएगा कोरोना का टीका

  • हेल्थ वर्कर्स में गर्भवती महिलाओं को पहले चरण में टीका नहीं लगाया जाएगा। इनके स्वास्थ्य को देखते हुए निर्णय लिया है।
  • हेल्थ वर्कर्स में अगर किसी को गंभीर बीमारी है तो उसे फिलहाल अभी टीका नहीं लगाया जाएगा। 
  • 50 साल से ज्यादा उम्र वाले हेल्थ वर्कर्स का चेकअप होगा। शुगर, एलर्जी लेवल हाई पाए जाने पर वैक्सीनेशन नहीं किया जाएगा।
  • अगर कोई हेल्थ वर्कर्स कोरोना पॉजिटिव आया है और 14 दिन बाद निगेटिव पाया जाता है तो 2 दिन बाद उसको कोरोना का टीका लगाया जाएगा।
  • वैक्सीन लगाने का समय सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। एक दिन में एक सेशन होगा। 
  • वैक्सीन लगने के बाद 30 मिनट तक इंतजार करना होगा। वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन सिर्फ COWIN ऐप पर होगा। 
  • अगर कोई अपनी खुद जानकारी अपलोड कर रहा है तो आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस समेत 15 डॉक्यूमेंट्स में से कोई एक देना होगा।

भोपाल के स्टेट सेंटर पर 94 हजार डोज भेजे गए हैं। इनमें भोपाल समेत 8 जिले के डोज शामिल हैं। समझिए पूरा गणित...

जिला डोज
भोपाल 36230
बैतूल 10780
हरदा 3100
होशंगाबाद 9710
रायसेन 5790
राजगढ़ 9550
सीहोर 8300
विदिशा 9900
टोटल 93360


* 640 डोज एक्ट्रा भेजे गए हैं। इन्हें इमरजेंसी में यूज किया जा सकता है। 

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि ये वॉयल डोज हैं। एक वॉयल में 10 लोगों के लिए वैक्सीन है। यानी भोपाल में 36230 डोज में 362300 हेल्थ वर्कर्स को टीका लग सकेगा। 

कमला पार्क स्थित रीजनल ड्रग सेंटर से रिपोर्ट

  • 11: 30 बजे यहां कोल्ड स्टोर पर सभी 94 हजार डोज आईं। एयरपोर्ट से यहां तक आने में सिर्फ 15 मिनट का वक्त लगा।
  • 12:10 बजे तक सभी जिलों के लिए निर्धारित डोज को अलग-अलग कार्टून में पैक किया गया।
  • 12:30 सबसे पहले हरदा जिले के लिए 3100 डोज विशेष इंसुलेटेड वाहन में रखे गए। 
  • 12: 32 बजे इसी वाहन में सीहोर के भी 8300 डोज रखे और रवाना किया। यह वाहन आष्टा वाया सीहोर होकर हरदा पहुंचेगा।
  • 12:40 बजे बैतूल के कार्टून रखते वक्त एक कर्मचारी की तबीयत बिगड़ी। इसलिए थोड़ी देर के लिए डिलीवरी रोकी गई।
  • भोपाल के डोज यहां से जेपी हॉस्पिटल में रखे जाएंगे।
  • वैक्सीन को सुरक्षित रखने के लिए विशेष इंसुलेटेड वाहन में -5 से 8 डिग्री तक कूलिंग बनाकर रखी जाएगी।
  • मंत्री विश्वास सारंग भी कमला पार्क स्थित रीजनल ड्रग सेंटर पहुंचे और व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

वैक्सीन आने को लेकर सुबह से इंतजार था, रास्ते में ट्रैफिक भी रोका गया
इससे पहले भोपाल में सुबह ठीक 11:15 बजे इंडिगो की मुंबई से आने वाली फ्लाइट राजाभोज एयरपोर्ट पर लैंड हुई। यहां से वैक्सीन ले जाने के लिए विशेष इंसुलेटेड वाहन पहले से ही खड़ा था। राज्य टीकाकरण और नोडल अफसर डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि वैक्सीन के यह सभी डोज सीरम इंस्टीट्यूट, पुणे से मंगाए गए हैं 16 जनवरी से वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इंसुलेटेड वैन में वैक्सीन डोज की सुरक्षा के पूरे प्रबंध किए गए थे। भोपाल में एयरपोर्ट से कमला पार्क स्थित रीजनल सेंटर तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए रास्ते में भी सुरक्षा प्रबंध किए गए थे। कुछ जगहों पर यातायात को रोकना पड़ा। भोपाल में वैक्सीन रखने के लिए 53 कोल्ड चैन पाइंट बनाए गए हैं। वैक्सीनेशन के लिए 85 जगहों पर 130 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। हर सेंटर पर 126 सेशन वैक्सीनेशन के लिए तय किए गए हैं।