शहडोल : पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर सुनियोजित तरीके से पति को उतारा मौत के घाट, 3 गिरफ्तार

 13 Jan 2021 09:37 PM

शहडोल। बुढ़ार थाना क्षेत्र अंतर्गत नेशनल हाईवे 43 पर मंगलवार की रात लगभग 8 बजे अज्ञात बदमाशों ने सुनियोजित तरीके से एक युवक की हत्या कर दी। पुलिस ने वारदात के आठ घंटे बाद ही मुख्य आरोपी अमित सिंह 27 वर्ष, बुढ़ार हाल ओपीएम, भोलू केवट 27 वर्ष, इमली टोला बुढ़ार और प्रियंका सिंह पति मुकेश स्ािंह 30 वर्ष, निवासी ओपीएम कॉलोनी अमलाई को गिरफ्तार कर लिया। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात ओरियंट पेपर मिल में इलेक्ट्रिक विभाग में पदस्थ मुकेश सिंह की हत्या की गई थी। आरोपियों ने वारदात को अंजाम देकर उसे दुर्घटना या लूट का रूप देने की कोशिश की। मुकेश सिंह अपनी पत्नी और पुत्री के साथ मंगलवार की दोपहर इलाज कराने के लिए अमलाई से शहडोल गया हुआ था। 

सुनसान जगह देख रुकने को बोला :
    जानकारी के अनुसार मुकेश की पत्नी सुनसान स्थान देख कर शौच के लिए रुकने को कहा, तो उसने बाइक रोक दी। इसी दौरान अंधेरे का फायदा उठाते हुए पत्नी के प्रेमी तथा उसके अन्य साथी ने मिलकर मुकेश के ऊपर धारदार हथियारों से हमला कर लोहे के औजार से उसे बुरी तरह से कुचल दिया और उसकी बाइक तथा मोबाइल छीन कर भाग गए। रात लगभग 9.15 बजे पुलिस को टेलीफोन पर सूचना मिली कि बुढ़ार बाइपास में मारूति नंदन पेट्रोल पंप से पकरिया चौराहे के बीच एक एक्सीडेंट हो गया है। सूचना मिलने पर थाना बुढ़ार की पेट्रोलिंग टीम मौके पर पहुंची। तो वहां पर एक महिला अपनी छोटी बच्ची के साथ मिली। उसने अपना नाम प्रियंका सिंह पति मुकेश सिंह निवासी ओपीएम बताया। वहीं पास में एक युवक जिसके चेहरे पर अत्यधिक चोटें थीं, मृत अवस्था में पड़ा था। उसके शरीर से काफी मात्रा में रक्त बह चुका था। प्रथम दृष्ट्या युवक को देखकर ऐसा लग रहा था कि, किसी ने उसके साथ गंभीर रूप से मारपीट कर हत्या कर दी है। 
पड़ताल में सामने आया प्रेम त्रिकोण :  
    पुलिस द्वारा मौके पर प्रियंका से घटना के विषय में जानकारी चाही गयी, तो उसने मृतक को अपना पति मुकेश सिंह बताया। वह घटना को कभी एक्सीडेंट बताती, तो कभी चुप होकर या बेहोशी का नाटक करती रही। उसके बोलचाल और हावभाव पुलिस को काफी संदिग्ध लगे। पेट्रोलिंग टीम द्वारा मुकेश को तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बुढ़ार रवाना किया गया। मौके पर मृतक की मोटर साइकिल एवं मोबाइल का न मिलना घटना को काफी संदिग्ध बना रहा था। जिस पर तत्काल मृतक के मोबाइल नंबर की जानकारी सायबर सेल से प्राप्त की गयी। साथ ही घटना को लेकर बारीकी से जांच किए जाने पर यह खुलासा हुआ कि मृतक मुकेश की अमित सिंह नामक व्यक्ति से घनिष्ट मित्रता है। अमित व मृतक मुकेश के बीच पारिवारिक एवं घनिष्ट संबंधों की वजह से मृतक की पत्नी प्रियंका से प्रगाढ़ प्रेम संबंध बन गए थे। घटना स्थल के आसपास अमित सिंंह की उपस्थिति की जानकारी मिलने पर उसकी तलाश की गई, तो वह पकड़ में आ गया। पूछताछ पर उसने मृतक मुकेश की पत्नी प्रियंका सिंह के साथ योजना बनाकर अपने साथी भोलू केवट, निवासी इमली टोला के साथ योजनाबद्ध तरीके से हत्या किया जाना स्वीकार किया।