सफलता: डॉक्टरों ने तीन घंटे ऑपरेशन के बाद बच्चे के अंगों को किया अलग, जन्म से थे चार हाथ, चार पैर

 23 Oct 2020 05:00 PM

इंदौर। एमवाय अस्पताल के डॉक्टरों ने शुक्रवार को एक विलक्षण बच्चे का सफल ऑपरेशन किया। बच्चे के चार हाथ, चार पैर और एक सिर था। तीन घंटे ऑपरेशन के बाद चार दिन के इस बच्चे के शरीर के अंगों को अलग किया। झाबुआ का ये बच्चा 12 तारीख को इंदौर लाया गया, जिसे स्पेशल डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेट करने का फैसला लिया और सफलतापूर्वक सर्जरी कर बच्चे को बचाया जा सका।
मेघनगर झाबुआ निवासी मोनिका  पति अल्बुष ने एक बच्चे को घर पर ही जन्म दिया था। बच्चा हेट्रोफोगस पैरासिटिक कंज्वाइंड ट्विन्स  नामक बीमारी से ग्रसित था। बच्चे को पहले परिजन मेघनगर ले गए, जहां से झाबुआ अस्पताल भेज दिया गया। एमवाय अस्पताल के डॉक्टर ब्रिजेश लाहोटी ने बताया कि चार दिन के इस विलक्षण बच्चे को 12 अक्टूबर को झाबुआ अस्पताल से रैफर किया गया था। 
बच्चे के आने के बाद जांच पड़ताल की और ऑपरेशन कर अलग करने का निर्णय लिया गया। 16 अक्टूबर को हमने बच्चे का ऑपरेशन किया। ऑपरेशन हमारे लिए भी चुनौती भरा था कि क्योंकि हमें नहीं पता था कि भीतर के किन-किन अंगों में खराबी है और कौन-कौन से अंग जुड़े हुए हैं। इसके बाद हमने धीरे-धीरे अंगों को अलग किया। ऑपरेशन के बाद बच्चे को आईसीयू में रखा। 
पिता अल्बुज ने बताया कि मैं काम पर चला गया था, 9 अक्टूबर की रात में करीब 8 बजे घर लौटा और खाना खाकर सो गया। रात करीब 12 बजे दर्द हुआ तो 108 को कॉल किया। जब तक एंबुलेंस आती, बच्चे का जन्म हो गया। इसके बाद बच्चे को देख मेघनगर अस्पताल लेकर गए। इसके बाद वहां से झाबुआ अस्पताल पहुंचे। यहां से उन्होंने एमवाय अस्पताल भेज दिया। जहां डॉक्टरों ने चमत्कार कर दिया। 
इन डॉक्टरों ने किया ऑपरेशन
शिशु सर्जरी विभाग के डॉ. ब्रिजेश लाहोटी, डॉ. अशोक लड्ढ़ा, डॉ. शशि शंकर शर्मा, डॉ. पूजा तिवारी, रेसिडेंट्स डॉ. शुभम् गोयल, डॉ. तनुज अहीरवाल। वहीं, एनेस्थीसिया डॉ. केके अरोरा, डॉ. पूजा वास्केल ने दिया।