UPI/BHIM के जरिए ट्रेन का टिकट बुक कराने पर मिल रहा 5% डिस्काउंट, जानें कैसे ले सकते हैं ऑफर का लाभ

 15 Jun 2021 01:20 PM

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण रफ्तार अब धीरे-धीरे कम होती जा रही है। रेलवे ने कई ट्रेनों का संचालन फिर से शुरू कर दिया है। ऐसे में कहीं यात्रा की प्लानिंग कर रहे लोगों के लिए एक काम की खबर है। अगर आप इसे पूरा पढ़ने के बाद अपना टिकट बुक करते हैं तो आप 50 रुपए तक बचा सकते हैं।

भारतीय रेलवे यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिये ट्रेन टिकट की पेमेंट करने वालों को डिस्काउंट दे रही है। UPI के माध्यम से टिकट का पेमेंट करने पर आपको बेसिक किराए के कुल मूल्य पर 5% की छूट मिलेगी। तो आइए जानते हैं कि कैसे आप इस ऑफर का फायदा उठा कर सस्ते में ट्रेन टिकट बुक करा सकते हैं।

रेलवे ने बताया है कि उसने रेलवे काउंटरों पर यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) / भारत इंटरफेस फॉर मनी (भीम) के माध्यम से ट्रेन टिकट बुक करने पर मिलने वाले डिस्काउंट को अगले साल 12 जून 2022 तक बढ़ा दिया है। रेलवे ने 1 दिसंबर 2017 से टिकटों के लिए भुगतान स्वीकार करने का यह तरीका शुरू किया था।

 

लाभ सिर्फ काउंटर से टिकट बुक कराने पर मिलेगा
हालांकि, रेल यात्री इस छूट का लाभ काउंटरों पर टिकट बुक करके प्राप्त कर सकते हैं, न कि ऑनलाइन टिकट बुक करके। रेलवे ने PRS आरक्षित काउंटर टिकट में बेसिक किराए के कुल मूल्य पर 5% की छूट देने का निर्णय किया है, जो कि अधिकतम 50 रुपये तक होगी। काउंटर के माध्यम से टिकट बुक करते समय UPI/BHIM को भुगतान विकल्प के रूप में भी स्वीकार किया जाता है। एक टिकट पर अधिकतम 50 रुपये तक की छूट मिलेगी और टिकट की कीमत 100 रुपये से अधिक होनी चाहिए।

 

ऐसे बुक करें टिकट

  • सबसे पहले PRS काउंटर पर रेलवे कर्मचारी यात्री से सभी यात्रा विवरण प्राप्त करेगा और भुगतान की जाने वाली राशि की सूचना देगा।
  • इसके बाद यात्री को भुगतान विकल्प के रूप में यूपीआई/भीम के माध्यम से टिकट की कीमत का भुगतान करने का विकल्प चुनना होगा।
  •  जिसके बाद काउंटर पर मौजूद व्यक्ति भुगतान विकल्प के रूप में यूपीआई का चयन करेगा।
  • इसके बाद पेमेंट की पुष्टि करने के लिए यात्री को उसके मोबाइल पर पेमेंट से जुड़ा एक मेसेज मिलगा।
  • यात्री को पेमेंट के मैसेज को कंफर्म करना होगा। जिसके बाद किराया राशि UPI से जुड़े खाते से डेबिट कर दी जाएगी।
  • पेमेंट होने के बाद PRS काउंटर पर बैठा व्यक्ति टिकट प्रिंट करेगा और यात्री को टिकट मिल जाएगा।