एयर इंडिया के पैसेंजर्स का डेटा लीक: कंपनी ने अपनी डेटा प्रोसेसर कंपनी SITA Pss पर फोड़ा लीक का ठीकरा; दिए जांच के आदेश

 22 May 2021 08:58 AM

नई दिल्ली। एयर इंडिया सहित वैश्विक एयरलाइंस कंपनियों पर एक बड़े साइबर अटैक में 45 लाख यूजर्स का डेटा लीक हो गया है। पासपोर्ट, क्रेडिट कार्ड सहित कई अहम डेटा में सेंध लगा दी गई है। जिन एयरलाइंस कंपनियों पर यह साइबर अटैक हुआ है, उनमें मलेशिया एयरलाइंस, फिनएयर, सिंगापुर एयरलाइंस, लुफ्थांसा और कैथे पैसिफिक भी शामिल हैं। एयर इंडिया के अनुसार, कंपनी की डेटा प्रोसेसर कंपनी सीता पैसेंजर सर्विस सिस्टम से चुनिंदा लोगों का डेटा लीक हुआ है।


कब हुआ ये साइबर अटैक 
एयर इंडिया के पैसेंजर सर्विस सिस्टम पर 26 अगस्त 2011 से 3 फरवरी 2021 के बीच रजिस्टर हुए विश्वभर के 45 लाख यात्रियों के डेटा पर साइबर अटैक हुआ है। जबकि एयर इंडिया को इसकी पहली सूचना 25 फरवरी 21 को मिली। साइबर हमले में ग्राहकों के नाम, जन्म तिथि, फोन नंबर, पासपोर्ट डिटेल्स, टिकट की जानकारी, नियमित यात्रियों और क्रेडिट कार्ड आदि का ब्योरा लीक हुआ है। एयर इंडिया ने कहा है कि क्रेडिट कार्ड के सीवीवी और सीवीसी नंबर्स इस सर्वर में स्टोर नहीं किए गए थे। 


साइबर अटैक मामले पर एयर इंडिया की सफाई 
एयर इंडिया ने सफाई देते हुए कहा है कि यात्रियों के क्रेडिट कार्ड डेटा के साथ उनका सीवीवी नंबर या सीवीसी नंबर लीक नहीं हुआ है। साथ ही फ़्रीक्वेंट फ़्लायर्स के पासवर्ड का डेटा भी सुरक्षित है। एयर इंडिया ने जांच के आदेश दे दिए हैं। एयर इंडिया पैसेंजर्स डेटा को SITA PSS मैनेज करती है।


घटना की जांच हो रही है
कंपनी ने कहा कि डेटा को सुरक्षित रखने के लिए डेटा सिक्योरिटी की घटनाओं की जांच की जा रही है। साथ ही एक्सटर्नल स्पेशलिस्ट को डेटा सिक्योरिटी घटना के लिए काम पर लगाया गया है। एअर इंडिया के एफएफपी प्रोग्राम का पासवर्ड भी बदला जा रहा है। एअर इंडिया ने कहा है कि उसने यात्रियों से भी यह कहा है कि वे अपने पासवर्ड को बदल दें, ताकि आगे डेटा सुरक्षित रहे।