आॅटो चालकों ने फूलबाग पर हल्ला बोला एसडीएम से हुआ विवाद, एफआईआर

Auto rickshaw drivers association

आॅटो चालकों ने फूलबाग पर हल्ला बोला एसडीएम से हुआ विवाद, एफआईआर

ग्वालियर। 5 हजार रुपए की आर्थिक सहायता, राशन दिलाने व अन्य मांगों को लेकर आॅटो रिक्शा चालक संघ के बैनर तले गुरुवार को आॅटो चालक फूलबाग मैदान पर इकट्ठे हो गए। आॅटो खड़ा करने के बाद चालकोें ने चौराहे से मानस भवन तक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मानव श्रृंखला बनाकर खड़े हो गए। चालक हाथों में मांगों की तख्यियां पकड़े हुए थे। पुलिस ने भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश मंत्री अरविंद मिश्रा, संजीव भदौरिया, धनंजय मिश्रा, रामजी राय, मनीष शिवहरे, उमाशंकर चौरसिया और 250 लोगोें के खिलाफ धारा 188 और 269 के तहत मामले दर्ज किए हैं। आॅटो चालकों के इकट्ठे होने की सूचना पर एसडीएम अनिल बनवारिया और सीएसपी मुनीष राजौरिया मौके पर पहुंच गए। एसडीएम ने मोबाइल निकाला और आॅटो चालकों की रिकॉर्डिंग शुरू कर दी, उन्होंने आॅटो चालकोें से कहा कि कोरोना फेल रहा है तो क्यों आए हो? इतने सारे लोगों से में कोई कोरोना संक्रमिक हुआ तो सब लोग संक्रमित हो जाएंगे। चालकों ने कहा कि राशन, आर्थिक सहायता नहीं मिली है, इसलिए इकट्ठे हुए हैं। इसी बीच वहां भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश मंत्री अरविंद मिश्रा पहुंच गए, उन्होेंने एसडीएम को अपना परिचय दिया। इस पर एसडीएम ने कहा कि तुम तो रोशनीघर में नौकरी करते हो, शासकीय सेवक होते हुए तुम आॅटो चालकों को लेकर आए हो। इसके बाद एसडीएम ने बिजली कंपनी के अधिकारियों को फोन लगाए और अरविंद मिश्रा को सस्पेेंड करने की बात कही। इसे लेकर अरविंद मिश्रा ने कहा कि मजदूरों की मांग उठाना उनका काम है और वह यह करते रहेंगे, भले ही उन्हें सस्पेंड करा दिया जाए।

 चालक के चांटा जड़ा और 200 रु. की रसीद काट दी

प्रदर्शन करने के बाद आॅटो चालक चले गए। कुछ चालक सड़क एक तरफ खड़े होकर धूम्रपान कर रहे थे। एसडीएम अनिल बनवारिया चालकों के पास दौड़कर पहुंचे। एसडीएम को आता देख चालकों ने भागने की कोशिश की। एसडीएम ने एक चालक के सिर के पीछे चाटा जड़ दिया और जमीन पर बैठा दिया। इसके बाद 200 रुपए की रेडक्रॉस की रसीद काट दी।  

पांच सवारी बैठाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा
ग्वालियर। भारतीय प्राइवेट ट्रांसपोर्ट मजदूर महासंघ के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह कुशवाह के नेतृत्व में बुधवार को टेंपो और मैजिक चालकों ने 3 के बजाए 5 सवारी बैठाने की मांग को लेकर एसपी के नाम ज्ञापन एसडीओ को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के जरिए कहा है कि टेंपो और मैजिक 6+1 और 7+1 में पास है अगर इनमेें तीन-तीन सवारी बैठाएंगे तो डीजल का खर्चा नहीं निकलेगा, इसलिए वाहनों में पांच-पांच सवारी बैठाने की अनुमति दी जाए। ज्ञापन देने वालों में आॅटो रिक्शा चालक संघ के अध्यक्ष महावीर सिंह किरार, स्कूल वैन चालक संघ के अध्यक्ष जीतेन्द्र सिंह, टाटा मैजिक चालक संघ के अध्यक्ष राजकुमार आर्य,आॅटो यूनियन के उपाध्यक्ष अशोक शुक्ला, अरुण शर्मा, विजय सिंह राठौर, अशोक कुशवाह, गोविंद पंडित आदि श् ाामिल थे। 

एसडीएम को मांगोें को लेकर ज्ञापन सौंपा, भूले सोशल डिस्टेंसिंग
भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश मंत्री अरविंद मिश्रा ने  लॉकडाउन की अवधि मेें 5 हजार रुपए के हिसाब से आर्थिक सहायता, राशन वितरण, सवारी वाहनों के परमिट, लाइसेंस, फिटनेस, बीमा की अवधि पर चार्ज नहीं लेने, ट्रेन और फ्लाइट चालू हो चुकी हैं, इसलिए आॅटो-टेंपो को चलने की अनुमति, आॅटो की 10 साल की मॉडल कंडीशन को 15 वर्ष की जाए, शहर में 190 आॅटो व 16 लोडिंग आॅटो के स्टैंडों पर बोर्ड लगाने और आॅटो की संख्या पर सीलिंग लगाने आदि मांगों को लेकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद अरविंद मिश्रा ने चालकों को संबोधित किया, जिसमें चालक सोशल डिस्टेंसिंग भूल गए।