महिला सांसद से आजम बोले, मन करता है आंखों में आंखें डाले रहूं, हो गया बवाल

महिला सांसद से आजम बोले, मन करता है आंखों में आंखें डाले रहूं, हो गया बवाल

नई दिल्ली। सपा सांसद आजम खान के एक बयान पर संसद में गुरुवार को जमकर हंगामा हुआ। हुआ यूं कि चर्चा के दौरान आजम खान भाजपा सांसदों की ओर देखकर शेर पढ़ रहे थे। उस वक्त अध्यक्ष की कुर्सी पर आसीन रमा देवी ने इसी पर आजम को टोकते हुए कहा, आप इधर-उधर न देखें, आप इधर देखकर बात कीजिए। आजम ने इसी के जवाब में कहा- मैं तो आपको इतना देखूं कि आप मुझसे कहें कि नजर हटा लो। अध्यक्ष महोदया, आप मुझे इतनी अच्छी और प्यारी लगती हैं कि मैं आपकी आंखों में आंखें डाले रहूं, ऐसा मेरा मन करता है। इसी बीच, भाजपा नेता अर्जुन राम मेघवाल ने आजम खान से शब्द वापस लेनी की मांग की। वहीं रमा देवी ने भी सपा सांसद के बयान पर आपत्ति जताते हुए कहा कि यह बात करने का तरीका नहीं होता। वहीं रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आजम को माफी मांगनी चाहिए। माफी मांगने की बात पर आजम खान यह कहकर सदन से बाहर चले गए कि मुझे बेइज्जती सहकर यहां बात नहीं रखनी। 

रमा देवी बोलीं, मैं छोटी बहन हूं

आजम के बयान पर रमा देवी ने कहा, मैं छोटी बहन जो हूं आपकी। सदन में तुरंत हो-हल्ला होने लगा, जिसके बाद वह बोलीं कि यह बोलने का तरीका है। रमा देवी ने इसके बाद आजम द्वारा इस्तेमाल किए गए उस बयान को सदन की कार्यवाही से हटवा दिया, जबकि आजम ने माफी नहीं मांगी। 

असंसदीय बात बोली हो तो इस्तीफे को तैयार : आजम

हालांकि, आजम खान ने विवाद को तूल पकड़ता देख सफाई दी और कहा कि मैंने यह कहा था कि आप मेरी प्यारी बहन हो। उन्होंने कहा कि अगर मैनें असंसदीय बात बोली हो तो इस्तीफा देने को तैयार हूं। उसके बाद आजम खान सदन से वॉक आउट कर गए। 

स्पीकर बोले, मर्यादित होकर रखें अपनी बातें

थोड़ी देर बाद जब लोस स्पीकर ओम बिरला सीट पर बैठे, तो उन्होंने कहा, सदन में मर्यादित होकर अपनी बातें रखे। स्पीकर ने आजम की टिप्पणी हटाने की मांग पर कहा, आप सभी के लिए यह कह देना आसान है कि इसे हटाएं, लेकिन हमें इन चीजों को हटाने की जरूरत क्यों पड़ती है? एक बार जब टिप्पणी की जाती है तो यह पहले ही सार्वजनिक तौर पर लोगों के बीच आ जाती है, अत: संसद की गरिमा को ध्यान में रख हमें भाषा बोलनी चाहिए। 

अखिलेश ने किया आजम का बचाव

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी सांसद आजम खान के सदन में बचाव किया। अखिलेश ने कहा कि मुझे ऐसा नहीं लगता है कि खान जी की यह अनादर करने की मंशा रही होगी। ये लोग (भाजपा सांसद) अभद्र है। कौन होते हैं ये उंगली उठाने वाले? 

आजम ने समूचे सदन का अनादर किया: महाजन

लोकसभा की पूर्व स्पीकर सुमित्रा महाजन का भी बयान आया है। महाजन ने कहा कि आजम खान ने समूचे सदन का अनादर किया है। उन्होंने कहा, कुछ नियम हैं जिनका आजम खान को पालन करना चाहिए था। आज उन्होंने किसी महिला का अनादर नहीं किया बल्कि पूरे सदन का अनादर किया है। महाजन ने कहा, आजम खान को संसद से बर्खास्त किया जाना चाहिए और उन्हें विशेष ट्रेनिंग भी दी जानी चाहिए। 

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष बोलीं- आजम का बयान शर्मनाक

लोकसभा में आजम खान के विवाद को राष्ट्रीय महिला आयोग ने शर्मनाथ बताया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि आजम खान का बयान शर्मनाक है। आजम खान ये लगातार कर रहे हैं। लोकसभा स्पीकर को इस मामले पर कार्रवाई करनी चाहिए, उन्होंने तुरंत अयोग्य घोषित करना चाहिए। 

आजम खान का विवादों से रहा है पुराना नाता

इससे पहले लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने जया प्रदा को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। आजम ने एक चुनावी रैली के दौरान रामपुर से बीजेपी की उम्मीदवार जया प्रदा पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि जिसको हम ऊंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिससे अपना प्रतिनिधित्व कराया। उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है।