फुटपाथ कारोबारी के विरोध पर बरसाई लाठियां, पांच घंटे से ज्यादा चला हंगामा

फुटपाथ कारोबारी के विरोध पर बरसाई लाठियां, पांच घंटे से ज्यादा चला हंगामा

ग्वालियर। महाराज बाड़े पर फुटपाथ कारोबारियों को खदेड़ने के चलते 5 घंटे से ज्यादा हंगामा चला। जिसमें फड़ लगाने के बाद सामान जप्ती पर वाहन रोकने पर शुरू हुए विवाद पर निगम अमले-पुलिस बल के साथ सड़क पर खुलकर हाथापाई हुई। साथ ही कारोबारियों के विरोध करने पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर उन्हें खदेड़ना पड़ा। मामला ठड़ा होने पर एसडीएम ने मौके पर जाकर फुटपाथ कारोबारियों से बात की, तब कहीं कंपू हॉकर्स जोन में जाने की सहमति बनी। सोमवार दोपहर 12 से 1 बजे के बीच निगम द्वारा महाराज बाड़ा फुटपाथ कारोबारियों के पंजीयन के लिए समय तय किया था, लेकिन निगम अधिकारियों की लेतलाली पर पंजीयज नहीं हो सके और फुटपाथ कारोबारियों ने बाड़े पर फड़ लगा लिए। जिसके बाद दोपहर 3 बजे पुलिस की मौजूदगी में निगम मदाखलत अमले ने कार्रवाई करते हुए कारोबार के लिए फुटपाथ कारोबारियों का रखा सामान जब्त करना शुरू कर दिया। जिसके चलते तीन सैकड़ा से ज्यादा फड़ कारोबारियों ने हाईकोर्ट का अपने लिए जारी किया गया आदेश दिखाकर सामान ले जा रहे तीनों मदाखलत वाहनों को रोक लिया। हंगामा बढ़ता देख मौके पर निगम-पुलिस का मुंहवाद शुरू होने के बाद फुटपाथ कारोबारियों के अध्यक्ष निर्मल राजावत से हाथपाई हो गई और स्थिति को काबू लाने के लिए मौके पर मौजूद पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया, जिसमें 3-4 दुकानदारों को चोट आई। इसके बाद दुकानदार अपने परिवारजनों को लेकर महाराज बाड़ा आ गए और चक्का जाम कर दिया। शाम 6 बजे थाना से धरना प्रदर्शन शुरू हुआ। हंगामे की सूचना मिलने पर निगमायुक्त संदीप माकिन ने अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव, राजेश श्रीवास्तव को मौके पर भेजा। इसी दौरान एसडीएम लश्कर सीबी प्रसाद, एडिशन एसपी सतेन्द्र सिंह तोमर सहित अधिकारी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने दुकानदारों से मंगलवार दोपहर 2 बजे गोरखी स्थित एसडीएम कार्यालय में बातचीत करने के बुलाया। इससे दुकानदार राजी हो गए। तब जाकर हंगामा शांत हुआ।

सप्ताह भर पहले से हो रही थी सख्ती

एक सप्ताह पहले फुटपाथियों को यहां से खदेड़ा गया था और सभी को कम्पू एवं गजराराजा स्कूल के पास स्थित हॉकर्स जोन में जगह दी गई। जिन दुकानदारों को हटाया गया था, उनकी सूची भी तैयार की गई थी। इसी आधार पर फुटपाथियों को हॉकर्स जोन में बिठाया गया है। लेकिन अब नए दुकानदार पैदा हो गए हैं।

एसडीएम ने की कारोबारियों से बात, हुई सहमति

महाराज बाड़े पर हंगामे को लेकर निगम अधिकारियों के बाद जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम सीबी प्रसाद मौके पर पहुंचे और उन्होेंने फुटपाथ कारोबारियों से बातचीत की। जिसके बाद मंगलवार की दोपहर बातचीत के बाद पंजीयन के लिए कंपू पर पहुंचने की सहमति बन गई।