बस आॅपरेटर बोले-टैक्स माफ, किराया डबल होने पर ही चलाएंगे यात्री बसें

Bus operator

बस आॅपरेटर बोले-टैक्स माफ, किराया डबल होने पर ही चलाएंगे यात्री बसें

ग्वालियर।  प्रदेश सरकार ने यात्री बसें चलाने की हरी झंडी जारी कर दी है, लेकिन सोमवार से अंतरराज्जीय और प्राइवेट बस स्टैंड से बसें नहीं चलीं। मध्य प्रदेश रोडवेज के अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह के नेतृत्व में बस आॅपरेटरों ने प्रमुख सचिव परिवहन एसएन मिश्रा, परिवहन आयुक्त वी. मधुकुमार के नाम संबोधित ज्ञापन संयुक्त परिवहन आयुक्त प्रशासन एमपी सिंह को ज्ञापन सौंपा। बस आॅपरेटरों ने ज्ञापन के जरिए मांग की है कि लॉकडाउन के कारण अप्रैल और मई माह में यात्री बसों का संचालन नहीं हुआ है, इसलिए दोनों महीनों का टैक्स माफ किया जाए साथ ही बस में 50 फीसदी यात्रियों के बैठाकर संचालन करने से हर दिन बस आॅपरेटरों का नुकसान होगा, इसलिए किराया दोगुना किया जाए। टेंपो, आॅटो, ईरिक्शा चलाने की अनुमति, आधे लोग बैठेंगे कलेक्टर ने यात्री बसों के साथ-साथ शहरी परिवहन के साधन टेंपो, आॅटो, ईरिक्शा, मैजिक, ओला चलाने की अनुमति दे दी है। वाहनों ने आधे लोग ही बैठ सकेंगे।

यह भी मांग की हैं

डीजल सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जाए, सभी मार्गों पर टोल टैक्स माफ किया जाए, बसों में सैनेटाइजर और मास्क का इंतजाम नगर निगम द्वारा किया जाए। अप्रैल-मई माह का टैक्स माफ करने, किराया डबल करने व अन्य मांगों को लेकर प्रमुख सचिव परिवहन और परिवहन आयुक्त के नाम ज्ञापन संयुक्त परिवहन आयुक्त को सौंपा है। मांग पूरी होने पर प्रदेश में यात्री बसों का संचालन किया जाएगा।