CAA-NRC विरोध: कई संगठनों ने किया भारत बंद का आव्हान, भड़काऊ मैसेज भेजने वालों पर लगेगा NSA

CAA-NRC विरोध: कई संगठनों ने किया भारत बंद का आव्हान, भड़काऊ मैसेज भेजने वालों पर लगेगा NSA
CAA-NRC विरोध: कई संगठनों ने किया भारत बंद का आव्हान, भड़काऊ मैसेज भेजने वालों पर लगेगा NSA

जबलपुर  सीएए-एनआरसी को लेकर विरोध लगातार तेज हो रहा है। मंगलवार को गाजीनगर में जहां महिलाओं का धरना लगातार जारी रहा, वहीं भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा द्वारा रैली निकालकर काले कानून का विरोध किया गया। इसके साथ ही अनेक संगठनों ने 29 जनवरी को भारत बंद का आव्हान भी किया है। उधर पुलिस अफवाहबाजों तथा उपद्रवियों पर लगातार नजर रखे हुए है। साथ ही सोशल मीडिया पर भड़काऊ मैसेज भेजने वालों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी गई है।बहुजन क्रांति मोर्चा के इंजीनियर प्रवीण गजभिये, राष्ट्रीय किसान मोर्चा के रामराज पटेल, भारत मुक्ति मोर्चा के विनय भगत, राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा के अल्ताफ खान तथा फहीम खान, आदिवासी एकता परिषद के गणेश भलावी, विद्यार्थी मोर्चा के हस्रान अहमद, महंदी हसन, शुभम चौधरी, बुद्धिष्ट इंटरनेशनल नेटवर्क के चंद्रशेखर उरकुडे ने 29 जनवरी को भारत बंद का ऐलान करते हुए व्यापारी व आमजनों से सहयोग की अपील की है। इन संगठनों का कहना है कि वर्ण, लिंग, जाति और धर्म के आधार पर भारत में जिस तरह से भेदभाव की साजिश केन्द्र सरकार कर रही है, इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। भारत की बहुत बड़ी आबादी के पास अपनी नागरिकता का कोई पहचान पत्र नहीं है। उन्हें संदेह के अंधेरे में धकेला जा रहा है। बंद के जरिए इसका घोर विरोध किया जाएगा।

आज सौंपेंगे भाजपा पदाधिकारी इस्तीफा

सीएए-एनआरसी के विरोध में भाजपा के अल्पसंख्यक तथा अन्य प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं में गोहलपुर रद्दी चौकी क्षेत्र में रैली निकालकर विरोध प्रकट किया गया। केन्द्र सरकार से मांग की गई कि इस तरह से नागरिकता संशोधन कानून स्वीकारने योग्य नहीं है। भाजपा नेता सईद कटर, शफीक हीरा, शाहिद अली सोनू, बाबू अंसारी, व सरफराज मंसूरी आदि ने संयुक्त रूप से बताया कि सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं की बैठक हो चुकी है और भाजपा को अलविदा कहने के अलावा कोई विकल्प बचा नहीं है। बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के उपरांत भाजपा नगर अध्यक्ष को 500 पदाधिकारी व कार्यकर्ता इस्तीफा सौंप देंगे। उधर भाजपा नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर का कहना है कि शफीक हीरा को डेढ़ साल पहले ही आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने के कारण पार्टी से निष्कासित किया जा चुका है। अन्य जो नाम सामने आ रहे हैं, उनका कोई स्पष्टीकरण अभी सामने नहीं आया है। सीएए कानून बन चुका है और जो इसका विरोध करेगा उसके लिए भाजपा में वैसे भी कोई जगह नहीं होगी। जहां तक भाजपा के झंडे को लेकर जाने की बात है तो पार्टी का झंडा लेकर कोई भी चल सकता है।

एसपी ने ये दी चेतावनी

एसपी अमित सिंह ने सोशल नेटवर्किंग साईट फेसबुक, वाट्सएप, ट्वीटर के माध्यम से जातिगत एवं साम्प्रदायिक भावना से संबंधित आपत्तिजनक भड़काऊ पोस्ट एवं मैसेज करने वालों को चेताते हुए कहा है कि यह एक संज्ञेय अपराध है। इस तरह की गतिविधि में जो भी लिप्त पाया जाएगा, उस पर एनएसए की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की अनेक टीमें लगातार इस पर निगरानी कर रहीं हैं।