मप्र के 16 आईएएस अफसरों के पास डॉक्टर की भी डिग्री, कोरोना से लड़ने केंद्र ले सकती है सेवाएं

 17 Jun 2020 01:00 AM  3

भोपाल। मप्र कॉडर के 439 में से 16 आईएएस अफसर ऐसे हैं, जिनके पास डॉक्टरी की भी डिग्री है। ऐसे में कोरोना संक्रमण को रोकने व जरूरत पड़ने पर ये लोगों के इलाज में मददगार बन सकते हैं। देशभर में कोरोना का असर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इससे लड़ने के लिए केन्द्र सरकार की मंशा है कि डॉक्टरी पढ़े आईएएस और आईपीएस भी अस्पतालों में डाक्टरों की यूनिफार्म में नजर आएं। इन अफसरों के जिम्मे कोविड अस्पतालों में प्रबंधन, समन्वय जैसे काम होंगे। केन्द्र का फोकस मुख्य तौर पर एमबीबीएस डिग्रीधारी अफसरों पर है। मप्र में तीन हजार से अधिक डॉक्टरों की कमी है। सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टरों को भेजने के लिए मानदेय 70 हजार से अधिक कर दी है। पीजी के दौरान एक साल की सेवा ग्रामीण क्षेत्रों में देने के लिए बॉन्ड की भी शर्त रखी है। फिर भी डॉक्टर सेवाएं देने तैयार नहीं हैं।