बच्चों ने बनाए हैंडल्स के लिए यूज एंड थ्रो पेपर्स, खेला चेस

बच्चों ने बनाए हैंडल्स के लिए यूज एंड थ्रो पेपर्स, खेला चेस
बच्चों ने बनाए हैंडल्स के लिए यूज एंड थ्रो पेपर्स, खेला चेस

IAmBhopal | जनता करफू को शहरवासियों ने क्रिएटिव ढंग से प्लान किया। बच्चों ने लिμट के बटन और हैंडल्स को सीधे कोई न छुए तो वहां पेपर्स रखे ताकि हर आने जाने वाला पेपर पीस उठाकर लिफ्ट ओपन करें। वहीं किसी ने इंडियन लिटरेचर पढ़ा तो किसी ने शतरंज खेला। लोगों का रविवार को पूरा दिन परिवार के साथ बिताया।

गेम्स खेले और साथ खाया खाना

बचपन में जैसे गेम्स खेला करते है वैसे दिन याद आ गए। आज अपने भाई बहनो के साथ मैंने शतरंज, छत पर क्रिकेट, ताश के पत्ते और मूवीज देखी। बहुत टाइम बाद ऐसा मौका आया है कि पूरा परिवार एक साथ था। सभी ने साथ में मिलकर खाना खाया। शाम को 5 बजे कर्मवीरों के लिए ताली बजाकर उनका अभिनंदन भी किया जिसमें पूरा परिवार ने अपना योगदान दिया। - सुधांशु जोशी, स्टूडेंट

लिफ्ट के बटन सीधे न छुएं इसलिए की पेपर कटिंग

मैंने अपनी दोस्त अनन्या के साथ लिफ्ट के बटन और दरवाजे के हैंडल के लिए न्यूजपेपर के पीस किए ताकि कोई सीधे इन्हें न छुएं। एक साइज के पेपर काट कर लिफ्ट और हैंडल पर लगाया ताकि लोग इन पेपर्स का इस्तेमाल करते हुए ही लिफ्ट के बटन दबाएं और लिफ्ट के गेट ओप करें। हम अब से हर दिन यह काम करेंगे ताकि सभी सुरक्षित रहें। -ज्योतिर्मन अग्रवाल

चार फिल्में देख डाली

मुंबई में शूटिंग बंद होने के बाद तुरंत भोपाल आ गया था। अपने फैमिली के साथ टाइम स्पेंड करने के साथ बहुत सारी फिल्में देख रहा हूं। जनता करफू को सपोर्ट करते हुए मैं घर पर ही रहा, कहीं भी नहीं गया। मैंने आज साउथ की फिल्म भैरावा, सन आफ सत्यामूर्ति- 2, ब्रुसली द फाइटर और रेस गुर्रम फिल्म देखी। - कैलाश टोपनानी, एक्टर