कॉलेजों को मास्क, सैनेटाइजर के लिए 12 रुपए प्रति छात्र के हिसाब से मिलेंगे

 12 Jun 2020 10:48 PM  2

ग्वालियर। जीवाजी विवि की कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला ने स्नातक और स्नातकोत्तर परीक्षाओं के संचालन को लेकर ग्वालियर-चंबल संभाग के आठों जिलोें के लीड कॉलेजों के प्राचार्यों के साथ बैठक की। कुलसचिव प्रो. आनंद मिश्रा ने कहा कि विवि द्वारा कॉलेजोें परीक्षा कराने के लिए 188 रुपए प्रति छात्र के हिसाब से दिए जाते हैं, इस राशि में 12 रुपए प्रति छात्र के हिसाब से और जोड़ दिए जाएंगे। इसका उपयोग सैनेटाइजर व मास्क के रूप में किया जा सकेगा। कुलसचिव ने कहा कि परीक्षा में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है, इसलिए उप केंद्र बनाए गए हैं। इन कॉलेजों मेें केंद्राध्यक्ष लीड कॉलेजों को भेजना होगा साथ ही यह देखना होगा कि कॉलेजों मेें छात्र संख्या के अनुसार सुरक्षा के मद्देनजर मास्क, सैनेटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग मशीन है या नहीं? शा. कॉलेज जनभागीदारी के जरिए खरीदेंगे थर्मल स्क्रीनिंग मशीन और सैनेटाइजर: शा. साइंस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. बीएल अहिरवार ने बताया कि उनके कॉलेज में 950 छात्र हैं, जिसमें 600 छात्रों की परीक्षा वह कॉलेज के दो भवनों में और बाकी के 350 छात्रों की परीक्षा एमएलबी में कराएंगे। छात्रों, शिक्षकों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। जनभागीदारी समिति के माध्यम से थर्मल स्क्रीनिंग मशीन और सैनेटाइजर खरीदा जाएगा। एक पाली के बाद परीक्षा कक्ष में सैनेटाइज किया जाएगा। छात्र एक-दूसरे से दूर रहें, इसके लिए एक मीटर की दूरी के हिसाब से गोले बनवाए जाएंगे। जिनमें छात्र खड़े होंगे और वहीं उनका टेम्प्रेचर लिया जाएगा। कॉलेजों को परीक्षा संचालन शुल्क के रूप में विवि से प्रति छात्र 188 रुपए दिए जाते हैं। इस राशि में 12 रुपए और जोड़कर कुल 200 रुपए कॉलेज को दिए जाएंगे, ताकि मास्क और सैनेटाइजर का इंतजाम किया जा सके।

 छात्रोें को एक घंटा पहले पहुंचना होगा, चेहरे पर मास्क जरूरी
 उच्च शिक्षा विभाग ने परीक्षार्थियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जिसके तहत परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र पर परीक्षा से एक घंटा पहले पहुंचना होगा, चेहरे पर मास्क, पानी की बोतल साथ लेकर जाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।