भीषण गर्मी में धरने पर बैठे कांग्रेस नेता सुनील शर्मा

 10 Jun 2020 10:42 PM  3

ग्वालियर। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ देवेन्द्र शर्मा रोशनीघर पहुंचे, जहां पर धरना दे रहे मप्र कांग्रेस कमेटी के महासचिव सुनील शर्मा के साथ बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कलेक्टर के माध्यम से रोशनी घर पर एसडीएम प्रदीप तोमर को ज्ञापन देते हुए स्पष्ट कहा कि लॉकडाउन में आर्थिक रूप से नागरिक कमजोर हो चुका है । माह के बिजली के बिल माफ करना चाहिए वरना विधानसभा चुनाव में जनता माफ नहीं करेगी। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ देवेन्द्र शर्मा एवं मप्र कांग्रेस कमेटी के महासचिव सुनील शर्मा ने मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कलेक्टर के माध्यम से एसडीएम प्रदीप तोमर को प्रस्ताव देते हुए कहा कि लॉकडाउन से आम नागरिक आर्थिक रूप से बर्बाद हो गया है, उद्योग, व्यापार चैपट हो गया है, दुकानदारी बंद हो गई है। इससे आर्थिक स्थिती ढावांडोल हो गई है, कोरोना की महामारी में आम नागरिक को हजारो के बिल भेजकर आर्थिक रूप से बर्बाद न करें। लॉकडाउन के दौरान 4 माह के बिजली के बिल तत्काल माफ करें, उद्योग, दुकानदारों के बिजली के भारी भरकम बिलों की वसूली रोकी जाए, इन इकाईयों के अब तक जितने यूनिट बिजली जले उतना बिल उन्हें दिया जाए। उन्होंने ज्ञापन में कहा कि मप्र कांग्रेस की सरकार के समय पूर्व सीएम कमलनाथ ने जनता के बिल हाफ किए थे, इंदिरा ज्योति योजना के अंर्तगत सभी परिवारों को 100 यूनिट पर 100 रु. बिजली का बिल देने की योजना लागू की गई थी, जिसका लाभ जनता को मिलने लगा था, लेकिन प्रदेश में सरकार बदलते ही भाजपा सरकार ने लॉकडाउन में हजारों के बिजली के बिल भेजकर जनता की आर्थिक रूप से कमर तोड़ दी है, कांग्रेस सरकार ने उद्योग, व्यापारियों को बिजली के बिलो में जो राहत दी थी, उसे भी भाजपा सरकार ने बंद कर दिया है, और गुमटियों, सैलून, चाय, नाश्ता, पान, हलवाई सहित अनेक कारोबारियों को भी राहत दी गई थी, जिस पर मप्र भाजपा सरकार ने कुठाराघात किया है। ज्ञापन देने वालो में हेवरन सिंह कंसाना, मितेन्द्र दर्शन सिंह, पूर्व पार्षद विकास जेन, राजेष भदोरिया, मुनेन्द्र भदोरिया, आंनद कुशवाह, पकज तौमर, नरेन्द्र रघुवंशी,मोनू राजावत, सोरभ तिवारी, शुभम ठाकुर, धर्मेन्द्र कोरी, शशिकांत शर्मा, मनीष राजपूत, दिनेष यादव, सोरभ दुबे, धर्मेन्द्र पाल, भानू परमार सहित अनेक कांग्रेसजन सम्मलित थे।