कोरोना : टीबी अस्पताल में 100 बिस्तरों का क्वारेंटाइन, बीएमएचआरसी में बनाया 10 बेड का आइसोलेशन वार्ड

कोरोना : टीबी अस्पताल में 100 बिस्तरों का क्वारेंटाइन, बीएमएचआरसी में बनाया 10 बेड का आइसोलेशन वार्ड

भोपाल। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने बीएमएचआरसी में भी 10 बेड का आइसोलेशन वार्ड बना दिया है। हमीदिया और एम्स में पहले से ही आइसोलेशन वार्ड बने हुए हैं। इसके अलावा टीबी अस्पताल में 100 बिस्तरों का क्वारेंटाइन सेंटर भी बनाया गया है। जेपी अस्पताल में कोरोना के लक्षण वाले मरीजों को सिर्फ भर्ती किया जाएगा। इमरजेंसी होने पर मरीज को एम्स या हमीदिया रैफर किया जाएगा। दरअसल, जेपी में मरीजों की संख्या अधिक होती है। ऐसे में संक्रमण न फैले, इसलिए यह निर्णय लिया गया है। स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, कोरोना से निपटने के लिए अस्पतालों में 150 बेड तैयार हैं। आइसोलेशन वार्ड में वेटिलेंटर की संख्या भी बढ़ाई गई है। अस्पतालों में भर्ती मरीजों के साथ एक अटेंडर रुक सकेगा। स्वास्थ्य विभाग की कोरोना को लेकर हुई बैठक में बताया गया कि एयरपोर्ट पर डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई है। विदेशी यात्रियों की स्क्रीनिंग के साथ सेल्फ डिक्लेरेशन फार्म भरवाया जाएगा। 104 हेल्पलाइन पर 1000 लोगों ने ली सलाह: कोरोना से संबंधित जानकारी के लिए शुरू 104 मेडिकल हेल्पलाइन पर अब तक 1000 लोगों के फोन कॉल आ चुके हैं। स्वास्थ्य संचालनालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है। यहां 0755- 2527151 व 2527177 पर फोन कर जानकारी ले सकते हैं।

कोरोना का असर: ट्रेनों में यात्रियों की संख्या 20- 25 प्रतिशत तक घटी

कोरोना का असर ट्रेन से यात्रा करने वालों पर भी नजर आने लगा है। यहां यात्रियों की संख्या में 25 प्रतिशत तक की कमी आई है। रेलवे अधिकारियों की मानें तो टिकट कैंसिलेशन भी बढ़ गया है। कुशी नगर एक्सप्रेस से गोंडा से भोपाल पहुंचे एक यात्री शक्ति ने बताया कि ट्रेन में पहले की तुलना में भीड़ कम थी। रास्ते में अधिकतर यात्री सिर्फ कोरोना को लेकर ही चर्चा करते रहे।

बस स्टैंड और स्टेशनों पर शुरू नहीं हुई स्क्रीनिंग : इधर, बस स्टैंड एवं रेलवे स्टेशनों पर अभी तक कोरोना के संदिग्ध मरीजों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था नहीं की गई है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के निर्देश के बाद रेलवे ने प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर जगह निर्धारित कर दी है। रेलवे प्रवक्ता आईए सिद्दीकी का कहना है कि स्वास्थ विभाग ने हमसे पूछा था, मगर बाद में किसी ने संपर्क नहीं किया।

रेलवे स्टेशन पर लगाए पोस्टर्स : कोरोना को लेकर सावधानियां बताने और लोगों को जागरूक करने के लिए भोपाल रेलवे स्टेशन पर जगह-जगह पोस्टर्स एवं पंपलेट्स लगाए हैं। इसके अलावा भोपाल स्टेशन पर क्वारेंटाइन की व्यवस्था भी की गई है, वहीं डॉक्टरों को भी अलग से प्रशिक्षण दिया गया है। रेलवे अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड भी बनाया गया है।