कोरोनावायरस: अमेरिका के पहले वैक्सीन का इंसानी ट्रायल सफल

कोरोनावायरस: अमेरिका के पहले वैक्सीन का इंसानी ट्रायल सफल

  मैसाचुसेटस । अमेरिकी कंपनी मॉडरेना ने कोरोनावायरस से बचाव के लिए बनाई जा रही वैक्सीन के टेस्ट के पहले चरण के नतीजों का खुलासा किया है। कंपनी ने बताया है कि टेस्ट में शामिल जिन लोगों को इस वैक्सीन की दो डोज दी गई उनमें इस वायरस से बचाने वाले एंटीबॉडी विकसित हो गए। मार्च माह में 8 मरीजों को वैक्सीन की दो डोज दी गई थी, जिसके बाद इनके शरीर में बने एंटबॉडी का लैब में मानवीय कोशिकाओं पर टेस्ट किया गया। यह पाया गया कि वैक्सीन लगाए गए इंसानों के शरीर से प्राप्त एंटीबॉडी के कारण वायरस का बढ़ना रुक गया। मॉडर्ना के चीफ मेडिकल आॅफिसर डॉ. टाल जाक्स ने कहा कि यदि ये परीक्षण सफल रहे तो यह वैक्सीन इस वर्ष के अंत तक या 2021 की शुरुआत में बाजार में आ सकती है। हम जितना संभव हो उतने लाख टीके तैयार करने प्रयास कर रहे हैं। इस वैक्सीन का चूहों पर परीक्षण किया गया। उन्हें वैक्सीन लगाने के बाद वायरस से संक्रमित किया गया, इसमें यह पाया गया कि वैक्सीन चूहों के फेफड़े में वायरस की वृद्धि को रोक सकता है और चूहे में एंटीबॉडी का स्तर उन इंसानों जैसा था, जिन्हें वैक्सीन दिया गया है। 33 कंपनी के शेयर 30% बढ 33 हाल ही के महीनों में मॉडरेना के शेयर में भारी वृद्धि दर्ज की गई है तथा सोमवार को इस सफलता के प्राथमिक नतीजे जारी होने के बाद इसमें और 30% की बढ़त दर्ज की गई।