कोराना से जंग के बीच बाढ़ से निपटने की तैयारी कर रहे निगम के वॉरियस

कोराना से जंग के बीच बाढ़ से निपटने की तैयारी कर रहे निगम के वॉरियस
कोराना से जंग के बीच बाढ़ से निपटने की तैयारी कर रहे निगम के वॉरियस

 भोपाल । राजधानी में हर साल बारिश में उफान पर आए नाले कहर बरपाते हैं। बीते पांच सालों में उफनते नाले आधा दर्जन से ज्यादा जिंदगियां लील चुके हैं। अब ऐसी स्थिति न बने इसके लिए नगर निगम ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके लिए निगम न सिर्फ अपने अमले को माइक्रो लेवल पर ट्रेनिंग दे रहा है, बल्कि लो लाइन एरिया (जल भराव क्षेत्र) में रहने वालों को आपात स्थिति से निपटने के गुर सिखाने के साथ ही वॉलेंटियर तैयार कर रहा है, ताकि जल्द से जल्द स्थिति को नियंत्रित किया जा सके। इस बार कोरोना की दहशत के बीच बारिश की आमद होने वाली है। जबकि शहर में 20 से 30 मिनट की तेज बारिश में ही नाले उफान पर होते हैं। इससे बाढ़ के हालात बनते हैं। इस दफा ऐसा न हो इसलिए बीते दो महीने से फ्रंट लाइन में रहकर कोरोना से जंग लड़ रहे निगम के कोरोना वॉरियर्स बाढ़ और बारिश में बनने वाली आपात स्थिति से निपटने की तैयारी भी कर रहे हैं। फायर ब्रिगेड के साथ ही स्वास्थ्य अमले को नए तरीके से ट्रेनिंग दी जा रही है। क्योंकि उन्हें इस बार बाढ़ के साथ कोरोना से भी निपटना है। इधर, निगम सोशल पुलिसिंग की तर्ज पर माइक्रो लेवल पर अपने वॉलेंटियर तैयार कर रहा है। उन्हें फायर ब्रिगेड, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ ट्रेन करेंगे।

 नचले एरिया में लोगों को दी जाएगी ट्रेनिंग 

नगर निगम लो लेवल एरिया में रहने वालों को भी आपात स्थिति से निपटने के लिए ट्रेनिंग देगा। एक जून से ट्रेनिंग शुरू की जाएगी। वार्ड वार कैंप लगाकर लो लाइंग एरिया में फायर ब्रिगेड और स्वास्थ्य अमला लोगों को बताएगा कि बाढ़ व अन्य किसी आपात स्थिति से कैसे निपटा जाए। क्या-क्या सावधानियां बरती जाएं, जिससे जानमाल का नुकसान न हो ।

माइक्रो लेवल ट्रेनिंग की तैयारी की गई 

फायर ब्रिगेड माइक्रो लेवल पर तैयारियां कर रहा है। 11 फायर स्टेशनों में तैनात 400 से ज्यादा फायर कर्मियों को ट्रेनिंग देने के साथ ही रोज रिहर्सल कराई जा रही है। लाइफ जैकेट, ट्यूब, डिवाइजिंग पंप सहित अन्य इक्युपमेंट की टेस्टिंग की जा रही है।

 हर वार्ड में 200 वॉलेंटियर रहेंगे

इधर, निगम सोशल पुलिसिंग की तर्ज पर वार्ड और बूथ लेवल पर वॉलेंटियर तैयार कर रहा है। इन वॉलेंटियर्स को फायर कर्मियों की तरह ही ट्रेनिंग दी जा रही है, इसके साथ ही आपात स्थिति से निपटने के लिए एक्यूपमेंट मुहैया कराए जाएंगे। हर वार्ड में 200 से ज्यादा वॉलेंटियर बनाए जाएंगे।

 ट्रेनिंग दे रहे हैं

बारिश में शहर में जल भराव की स्थिति न बने इसके लिए नालों की सफाई कराई जा रही है। निगम अमले को माइक्रो लेवल पर ट्रेनिंग दी जा रही है। इसके अलावा लो लाइंग एरिया में वॉलेंटियर तैयार किए जा रहे हैं, जो आपात स्थिति में मदद करेंगे। -राजेश राठौर, अपर आयुक्त (स्वास्थ्य), नगर निगम

 फायर फाइटर्स भी देंगे मदद 

फायर ब्रिगेड की रेस्क्यू टीम हर आपात स्थिति से निपटने को तैयार रहती है। लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इस बार हालात अलग हैं। फायर ब्रिगेड के साथ ही स्वास्थ्य अमले की ट्रेनिंग जारी है। -रामेश्वर नील, फायर ऑफिसर, नगर निगम