अटल बिहारी सुशासन संस्थान के डीजी परशुराम का इस्तीफा

अटल बिहारी सुशासन संस्थान के डीजी परशुराम का इस्तीफा

भोपाल। अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन संस्थान के महानिदेशक आर परशुराम ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। गुरुवार को उन्होंने इस्तीफा मुख्यमंत्री को भेजा। उनके द्वारा अचानक लिए इस निर्णय से प्रशासनिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। जानकारी के अनुसार, आर परशुराम ने बुधवार को दोपहर बाद लंच के दौरान सभी प्रमुख सलाहकारों को चैंबर में बुलाया और बताया कि उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। यह सुनते ही सभी हतप्रभ रह गए, लेकिन किसी ने इस्तीफा देने का कारण नहीं पूछा। सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा है कि राज्य योजना आयोग को सुशासन संस्थान में मर्ज कर दिया जाए। इसके लिए वर्ष 2018 के जून माह में सीएम की मौजूदगी में एक बैठक भी हुई थी। लेकिन, विधानसभा चुनाव आने से मामला ठंडे बस्ते में चला गया। कांग्रेस की सरकार आने पर मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आर परशुराम को आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग के स्थान पर सुशासन संस्थान का महा निदेशक बना दिया था।

बुधवार को मुख्यमंत्री के साथ बैठक में हुए थे शामिल

इधर, 15 माह बाद प्रदेश में फिर भाजपा की सरकार बनी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मंत्रालय में सुशासन संस्थान के महानिदेशक परशुराम के साथ बैठक की थी। इस मौके पर मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस भी मौजूद थे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा था कि संस्थान को आदर्श बनाया जाए तथा इसमें विभिन्न क्षेत्रों के देश-दुनिया के विशेषज्ञों की सेवाएं ली जाएं। अनुमान है कि बैठक के दौरान एक बार फिर राज्य योजना आयोग को मर्ज करने का मुद्दा उठा, लेकिन परशुराम इससे सहमत नहीं हुए। इधर, इस्तीफा देने के कारण जानने के लिए आर परशुराम से कई बार संपर्क किया गया, लेकिन वे मोबाइल फोन पर उपलब्ध नहीं हो सके।

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का बनाया जा रहा है प्लान

इधर, जानकारी के अनुसार, सुशासन संस्थान आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का प्लान तैयार कर रहा है। संभावना यह भी है कि इस मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री और महानिदेशक के बीच कोई चर्चा हुई है। बुधवार को मुख्यमंत्री ने आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश को लेकर बैठक भी बुलाई थी।