DHFL के प्रमोटर कपिल, धीरज वाधवन हिरासत में, 23 लोगों के साथ फॉर्म हाउस में पिकनिक मना रहे थे

DHFL के प्रमोटर कपिल, धीरज वाधवन हिरासत में, 23 लोगों के साथ फॉर्म हाउस में पिकनिक मना रहे थे

मुंबई । महाराष्ट्र के सतारा जिले के महाबलेश्वर में गुरुवार को डीएफएचएल के प्रमोटर कपिल वाधवन और धीरज वधावन को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस ने बताया कि लॉकडाउन के उल्लंघन मामले में उन्हें हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने वाधवन परिवार के सदस्यों समेत 23 लोगों को उनके फार्महाउस में पाया था। परिवार समेत कपिल वाधवन को हिरासत में लिए जाने के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि मामले की जांच की जाएगी। भाजपा ने इस मामले को लेकर गृह मंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा मांगा है। वहीं उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार ने यात्रा की इजाजत देने वाले प्रधान सचिव अमिताभ गुप्ता को तुरंत प्रभाव से आवश्यक छुट्टी पर भेज दिया है।

 फडणवीस ने सरकार पर साधा निशाना 

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, क्या महाराष्ट्र में अमीरों के लिए कोई लॉकडाउन नहीं है? कोई भी अनुमति से महाबलेश्वर में छुट्टियां बिता सकता है।

30 हजार करोड़ के घोटाले के आरोपी हैं।

वधावन भाई 30,000 करोड़ के डीएचएफएल घोटाले के मुख्य आरोपी हैं। ईडी मामले की जांच कर रही है। दोनों की गिरμतारी हुई थी, लेकिन फिलहाल जमानत पर हैं।

भाजपा ने मांगा गृह मंत्री का इस्तीफा 

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने यात्रा की अनुमति देने के मामले में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की शुक्रवार को मांग की। उन्होंने कहा कि अफसर को हटाना महज दिखावे की कार्रवाई है।