संभागायुक्त ने बनवाया था बोरियों का बंधान डेयरी संचालकों ने तुड़वा दिया

संभागायुक्त ने बनवाया था बोरियों का बंधान डेयरी संचालकों ने तुड़वा दिया

जबलपुर । पिछले पखवाड़े में संभागायुक्त महेश चंद्र चौधरी के निर्देश पर नगर निगम ने नर्मदा में मिलने वाली डेयरियों की गंदगी को रोकने के लिए जमतरा पुल भटौली के पास मिलने वाले नाले में बोरियों का बंधान बनवाया था जो कि डेयरी वालों को रास नहीं आया। बीती रात इसे तोड़ दिया गया है और अब एक बार फिर बदस्तूर नर्मदा में डेयरियों की गंदगी फिर मिलने लगी है। इसे दुस्साहस कहा जाए या निम्न स्तरीय हरकत जो भी है इस कृत्य से नर्मदा तो मैली हो ही रही हैं साथ ही लाखों उन नर्मदा भक्तों की भावनाएं भी आहत हो रही हैं जो नर्मदा को मां का दर्जा देते हैं। लंबे समय से डेयरियों की गंदगी नदियों में मिलने से रोकने प्रशासन प्रयासरत है। जमतरा परसवाड़ा में जो नाला नर्मदा में मिलता है इसमें दर्जनों डेयरियों का अपशिष्ट समाहित रहता है। इसे रोकने के लिए प्रशासन के स्तर पर हुए प्रयासों को डेयरी संचालकों ने पलीता लगा दिया है।

ये हुए थे आदेश

विगत पखवाड़े इस बारे में संभागायुक्त एवं नगर निगम के प्रशासक श्री चौधरी ने स्वयं मौके पर जाकर हालात का जायजा लिया था और नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए थे कि यहां पर तात्कालिक व्यवस्थाओं बतौर बोरियों का बंधान बनाया जाए। इस निर्देश का आनन- फानन में पालन करवाते हुए अच्छी खासी चौड़ाई में बोरियों का बंधान भी नगर निगम के द्वारा बनवाया गया था। कुछ दिन तक नर्मदा में डेयरियों का अपशिष्ट नहीं मिला। इसके बाद जब वहां गंदगी बढ़ी तो ओवर लो होकर पानी बहने लगा। डेयरी संचालकों को यह बर्दाश्त नहीं हुआ और उन्होंने अपने गुर्गों से कहकर कथित रूप से इस बंधान को तुड़वा दिया।

5 हजार रुपए जुर्माने का किया था प्रावधान

संभागायुक्त ने स्पष्ट आदेश दिए थे कि यदि कोई भी डेयरी संचालक नाले में या नदी में अपशिष्ट डालता है तो उस पर तत्काल 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाए और कानूनी कार्रवाई की जाए। हालाकि इस तरह की कोई कार्रवाई तो नगर निगम नहीं कर पाया मगर इस बीच डेयरी संचालकों ने अपना हौसला दिखाते हुए प्रशासन को ही मुंह चिढ़ाते हुए बंधान को तुड़वा दिया है। 

मैं इसकी जांच करवा रहा हूं। यह बहुत गलत बात है। जिन्होंने भी यह कृत्य किया है उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। नर्मदा के आंचल को मैला नहीं होने देंगे। - महेश चंद्र चौधरी, संभागायुक्त एवं प्रशासक ननि।