पीएस को लिखा 140 एकड़ जमीन के लिए डीएम ने पत्र

project management

पीएस को लिखा 140 एकड़ जमीन के लिए डीएम ने पत्र

ग्वालियर। सिटी सेंटर क्षेत्र में स्थित डीआरडीओ की लैब के कारण मुश्किल में आई सिटी सेंटर स्थित नगर निगम भवन, स्टेडियम, एजी आॅफिस का पुल सहित अन्य निजी एवं सरकारी इमारतों को बचाने के लिए महाराजपुरा सर्किल में 140 एकड़ जमीन देना है। इसके लिए पुन: जमीन आवंटित की जाना है। इसके लिए सर्वे नंबर सहित सूची को मंजूरी दिलाएं ताकि डीआरडीओ अपनी क्रिटिकल लैब तथा अन्य गतिविधियां वहां से संचालित कर सके। कलेक्टर ने यह पत्र प्रमुख सचिव राजस्व के नाम लिखा है। डीआरडीओ को उक्त जमीन के बारे में सबकुछ विस्तार के साथ अवगत करा दिया गया है। इस जमीन पर न तो कोई मेडिकल कॉलेज की जमीन है और न ही एमिटी कॉलेज की। उपरोक्त जमीन पूरी तरह से सरकारी है। एक फर्लांग जमीन भी निजी क्षेत्र में नहीं है।

तकनीकी दल बनाएगा लेआएट

डीआरडीओ की और से कहा गया है कि 140 एकड़ जमीन के भीतर ही क्रिटिकल एक्टिविटी संचालित की जाएगी और अन्य गतिविधियां भी चलेंगी। इसकी लोकेशन और डिटेल लेआउट-प्लान तकनीकी दल द्वारा ही बनाया जाएगा। इसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। मालूम हो कि इस जमीन डेढ़ दर्जन से अधिक सर्वे नंबर कलेक्टर ने प्रमुख सचिव को लिखे पत्र में उल्लखित किए हैं। चूंकि डीआरडीओ ने फ्री आॅफ कॉस्ट यह जमीन चाही थी। इसीलिए उपरोक्त जमीन चिन्हित की गई है।

पूर्व विधायक गोयल ने भी लिखा पत्र

उधर ग्वालियर पूर्व के विधायक मुन्नालाल गोयल ने भी डीआरडीओ को लेकर परेशानी में आए व्यापारियों के सामने खड़ी हुई परेशानी को लेकर महाराजपुरा में 140 एकड़ जमीन स्वीककृत की जाए। ताकि सिटी सेंटर के रहवासियों और व्यावसायिक गतिविधियों के लिए उन्हें जमीन मिल सके।