भीड़ लगने के कारण कलक्ट्रेक्ट में नहीं बनाए और सुधारे जा रहे आधार कार्ड लोग हो रहे परेशान

 24 Jun 2020 12:05 AM  6

जबलपुर । आधार कार्ड की अनिवार्यता बढ़ रही है। बच्चों को स्कूल में एडमीशन व बैंक खाता खुलवाने सहित अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आधार नम्बर की आवश्यकता हर साल पड़ती है। परंतु इन दिनों दूर-दराज से आए लोग एवं स्कूली बच्चे कलक्ट्रेक्ट के चक्कर लगा रहे है। लेकिन उनके आधार कार्ड नहीं बन पा रहे है। जिले में अभी तक 26 लाख 36 हजार 5 सौ 82 लोगों के आधार कार्ड बन चुके है। परंतु कोरोना महामारी में भीड़ लगने की वजह से कलक्ट्रेक्ट के लोकसेवा केन्द्र से आधार कार्ड बनाने और सुधारने का काम अभी फिलहाल बंद कर दिया गया है। लक्ष्य के अनुसार107 फीसदी जिले में आधार कार्ड बनाए जा चुके है। गौरतलब है कि जिले में करीब 60 आधार पंजीयन केन्द्र है। जिसमें से अभी कलक्ट्रेक्ट में आधार कार्ड नहीं बनाए जा रहे है। जिसके कारण 59 केन्द्रों में आधार कार्ड सुधारने और बनाने का काम जारी है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में जनपद पंचायत,नगर परिषद सहित स्कूलों और शहरी क्षेत्रों के कुछ निगम के जोन कार्यालय में आधार कार्ड बनाएं और सुधारे जा रहे हैं।

दर्जनों लोग लगा रहे चक्कर

कलक्ट्रेक्ट कार्यालय में प्रतिदिन शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के दर्जनों लोग आधार कार्ड बनवाने और सुधरवाने के लिए आ रहे है। परंतु वे मायूस होकर ही घर जा रहे है,क्योंकि उनके काम नहीं हो पा रहे है।

अनलॉक होने के बाद लगने लगी थी भीड़

गौरतलब है कि अनलॉक होंने के बाद कलक्ट्रेक्ट कार्यालय के लोकसेवा केन्द्र में खासी भीड़ लगने लगी थी। लोग बिना सोशल डिस्टेंसिंग के ही अपने काम कराने के लिए भीड़ लगाने लगे थे। जिसके कारण 17 जून से कलक्ट्रेक्ट में आधार पंजीयन कार्य बंद कर दिया गया है।