शहादत पर पिता बोले-बेटे ने सम्मान से सिर ऊंचा कर दिया

शहादत पर पिता बोले-बेटे ने सम्मान से सिर ऊंचा कर दिया
शहादत पर पिता बोले-बेटे ने सम्मान से सिर ऊंचा कर दिया

भोपाल ।  लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए मप्र के रीवा के अमर शहीद दीपक सिंह को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्रद्धांजलि दी है। साथ ही उनके परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि, पक्का मकान या प्लॉट तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि अमर शहीद दीपक ने देश के लिए हंसते-हंसते अपने प्राणों को न्योछावर कर दिया। हम उनके इस बलिदान को सलाम करते हैं। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति तथा उनके परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें।

 सीएम ने ट्वीट किया

रीवा के लाल, अमर शहीद स्व. दीपक सिंह पर हम सभी मध्यप्रदेशवासियों को गर्व है! उनका परिवार अब हमारा परिवार है। सम्मान स्वरूप उनके परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि, एक पक्का मकान और परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाएगी। जय हिंद !

 शहीद दीपक की पार्थिव देह आज पहुंचेगी फरेहदा गांव

गलवान घाटी में शहीद हुए प्रदेश के वीर सपूत दीपक की पार्थिव देह प्रयागराज पहुंच चुकी है। रीवा के आईजी चंचल शेखर ने पीपुल्स समाचार को बताया कि शुक्रवार दोपहर 12 बजे तक पार्थिव देह शहीद के गांव फरेहदा पहुंचेगी। दोपहर तीन से चार बजे अंतिम संस्कार किया जाएगा। अधिकारियों ने मंगलवार देर रात दीपक सिंह के शहीद होने की सूचना पिता को फोन पर दी थी। दीपक 21 साल के थे। 8 महीने पहले ही शादी हुई थी। पिता गजराज सिंह को बताया कि सभी बेटे के अंतिम दर्शन के लिए इंतजार कर रहे हैं। उनके अंतिम दर्शनों के बाद राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह अंतिम बार मार्च में होली मनाने घर आया था। लेकिन, किसी को क्या पता था कि अब दीपक शहीद होकर तिरंगे में लिपटकर घर वापस आएगा। दिल भारी है, लेकिन बेटे ने सिर सम्मान देखें पेज07 से ऊंचा कर दिया।