पूर्व सीएस डॉ. गुप्ता बने सीएमएचओ, विरोध शुरू

Achievements

पूर्व सीएस डॉ. गुप्ता बने सीएमएचओ, विरोध शुरू

ग्वालियर। स्वास्थ्य विभाग ने सीएमएचओ डॉ. एसके वर्मा के स्थान पर पूर्व सिविल सर्जन डॉ. वीके गुप्ता को ग्वालियर का सीएमएचओ बनाया है। अपर संचालक सपना एम लोवंशी ने इसका आदेश भी जारी कर दिया है। कुछ महीने पहले जिला अस्पताल मुरार के अव्यवस्थाओं के चलते प्रसिद्ध हो चुके डॉ. गुप्ता को यह पद मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने ही विरोध करना शुरू कर दिया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एसके वर्मा ने सीएमएचओ के पद पर कार्य करने में असमर्थता जाहिर करते हुए स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर उनको इस पद से मुक्त करने को लेकर पत्र लिखा था, इसकेतुरंत बाद ही डॉ. गुप्ता ने अपनी गोटिया बैठाना शुरू कर दिया था। पूर्व में डॉ. गुप्ता मुरैना के सिविल सर्जन थे तो अव्यवस्थाआें के चलते तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री ने इन्हें इनके पद से हटाया था। सिविल हॉस्पिटल ग्वालियर में नियमों को ताक पर रखकर पुराना कबाड़ा बेचने के मामले में भी डॉ. गुप्ता पर जांच बैठ चुकी हैं। इसके साथ ही परिवार नियोजन कार्यक्रम में आॅपरेशन के दौरान एक महिला की मौत होने के मामले में भी यह काफी चर्चाओं में रहे थे।

दो बार छीना जा चुका है पद
डॉ. गुप्ता के कार्यकाल की बात की जाए तो वह 31 जनवरी 2020 को पूर्व केन्द्रीय मंत्री तक इनकी शिकायत पहुंची थी जिसके यह सिविल सर्जन के पद से हटाए गए थे इनके साथ ही पूर्व सीएमएचओ डॉ. सक्सेना भी हटा दिए गए थे। इनके सीएस के कार्यकाल की बात की जाए तो इनके समय में  जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं बदतर हो चुकी थी मरीज आए दिन परेशान होते थे। वह सफाई कर्मचारियों को वेतन तक नहीं दिला पाते थे। इससे आए दिन जिला अस्पताल के सफाई कर्मचारियों को हड़ताल करने पर विवश होना पड़ता था।  पूर्व कलेक्टर अनुराग चौधरी भी कई बार इनकों व्यवस्थाएं सुधारने को लेकर निर्देश दे चुके थे।