जीएमसी की डॉक्टर, बंगरसिया में सीआरपीएफ के 3 जवानो को कोरोना

 21 Jun 2020 01:51 AM  13

भोपाल। भोपाल में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। शनिवार को 48 पॉजिटिव मरीज मिले। इसमें गांधी मेडिकल कॉलेज की डॉक्टर सहित सीआरपीएफ बंगरिया में रहने वाले तीन जवान शामिल हैं। महामाई का बाग क्षेत्र के गली नंबर -3 में फिर 4 नए मरीज मिले हैं। महामाई का बाग क्षेत्र में अब संक्रमितों की संख्या 25 तक पहुंच गई है। बीते तीन दिनों में इस क्षेत्र में 20 मरीज निकले हैं। बैरागढ़ क्षेत्र में अब तेजी से संक्रमण फैल रहा है। शनिवार को 4 संक्रमित निकले हैं। वहीं गांधी नगर में एक ही परिवार के दो पॉजिटिव निकले हैं। बैरागढ़ में 14 साल की लड़की संक्रमित निकली है। यह सेवा सदन हॉस्पिटल से आगे की गली में रहती है। सेवा सदन हॉस्पिटल प्रबंधन ने भी इसकी पुष्टि की है। इधर मैनिट कॉलेज में भी दो संक्रमित निकले हैं। कोलार में मां और बेटी निकले संक्रमित : कोलार के 45 आर्चेड मकान नंबर 81 में रहने वाली एक महिला और उनकी छोटी बच्ची संक्रमित निकले हैं। महिला ने बताया कि उनके पति की कोटरा सुल्तानाबाद में इलेक्ट्रिानिक और इलेक्ट्रिशियन की दुकान है। दो दिन पहले वे संक्रमित निकले थे। अब हम दोनों संक्रमित निकल गए हैं। वे दोनों चिरायु में भर्ती हैं। महिला ने बताया कि अस्पताल के वार्ड नंबर - 7 में भर्ती किया गया है। वहां देखरेख नहीं की जा रही है। वार्ड के बाहर अंधेरा है और मच्छर भी बहुत है। वार्ड में जगह जगह कचरा पड़ा है। ऐसे में कोरोना से तो मुक्त नहीं होंगे लेकिन चिकनगुनिया, मलेरिया या डेंगू के शिकार जरूर हो जाएंगे। इन क्षेत्रों में मिले मरीज : ईदगाह हिल्स, संस्कृत पाठशाला, पुराना कांग्रेस नगर, सांई बाबा नगर 11 नंबर स्टाफ, 60 अपार्टमेंट शाहजहांनाबाद, कल्पना नगर, 60 क्वार्टर पिपलानी, शहीद नगर, सुरुचि नगर, न्यू सबरी नगर, शारदा नगर, शिवाजी नगर, बागमुगालिया, सुदामा नगर क्षेत्र में मरीज मिले हैं।

मरीजों में कोरोना के लक्षण दिखें तो फीवर क्लिनिक करें रैफर

भोपाल। नर्सिंग होम संचालक सर्दी-खांसी और अन्य बीमारी से संबंधित मरीजों में कोरोना जैसे लक्षण या बुखार आने पर उन्हें फीवर क्लीनिक में रैफर करें। ये निर्देश शनिवार को कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कलेक्टर कार्यालय में आयोजित नर्सिंग एसोसिएशन की बैठक में दिए। उन्होंने नर्सिंग होम संचालकों से कहा है कि वे नर्सिंग होम के बाहर शासकीय फीवर क्लीनिक की जानकारी चस्पा करें। कलेक्टर ने एसडीएम और सीएमएचओ से कहा कि शहर में संचालित निजी क्लीनिक, नर्सिंग होम, हॉस्पिटल आदि के निकटतम शासकीय फीवर क्लिनिक जहां कोविड-19 के लक्षण की नि:शुल्क जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि नर्सिंग एसोसिएशन इस संबंध में अस्पताल प्रबंधकों की बैठक करके भी यह जानकारी साझा करें और फीवर क्लीनिक में रेफर किए जाने वाले मरीजों का रिकॉर्ड रखेंगे। फीवर क्लीनिक के अधिकारियों को भी रेफर होकर आने वाले मरीजों की जानकारी का रिकॉर्ड रखना होगा।