सरकार को नहीं पता बारिश से कितने एकड़ में खराब हुई फसल

सरकार को नहीं पता बारिश से कितने एकड़ में खराब हुई फसल

भोपाल। कृषि विभाग को यह नहीं पता कि प्रदेश में बारिश के दौरान खरीफ की कुल कितने एकड़ फसल की क्षति हुई है? अधिकांश सवालों का जवाब दिया गया है कि- जानकारी एकत्र की जा रही है। राज्य विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन भाजपा विधायकों ने किसान कर्ज माफी पर सरकार को घेरा। कृषि मंत्री सचिन यादव ने विधायकों के सवालों के जवाब लिखित में दिए हैं। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बारिश में खरीफ की कितने एकड़ में फसल क्षति के साथ क्षति का सर्वे पूर्ण होने की जानकारी चाही। उन्होंने फसल बीमा की राशि का कुल कितने किसानों को कुल कितने हेक्टेयर जमीन का बीमा मुआवजा दिए जाने को लेकर सवाल किया। कृषि मंत्री ने बताया कि फसल क्षति की जानकारी एकत्र की जा रही है। वहीं कृषि मंत्री सचिन यादव ने विधायक विश्वास सारंग के प्रश्न पर उत्तर दिया है कि 1 सितम्बर 2019 से अबतक किसानों की आत्महत्या करने, किसानों पर किस-किस बैंक का कर्ज और कर्ज माफ क्यों नहीं हुआ की जानकारी एकत्र की जा रही है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के कर्जमाफी के सवाल पर कि, कितने किसानों के खातों में 2 लाख तक की राशि जमा करा दी जा चुकी है, का जवाब भी दिया कि जानकारी एकत्र की जा रही है।

मानसिक संतुलन खराब होने से किसानों की मौत

उधर, गृह मंत्री बाला बच्चन ने विधायक आशीष शर्मा के सवाल का लिखित जवाब दिया है कि प्रदेश में जनवरी 2019 से 20 नवम्बर 2019 के बीच 122 मामले किसानों की आत्महत्या के कारण दर्ज हुए हैं। इनमें 31 मामलों में किसानों ने बीमार होने से आत्महत्या की। कर्ज के कारण एक, फसल खराब होने के कारण शून्य और पारिवारिक विवाद के चलते 20 किसानों ने आत्महत्या की। जबकि मानसिक संतुलन खराब होने से आत्महत्या करने वालों की संख्या 41 है। नशे के आदी होने के कारण 24 और व्यापार में घाटा होने से एक किसान द्वारा आत्महत्या करने की जानकारी दी गई।

सरकार के खिलाफ आज मार्च करते पहुंचेंगे भाजपा विधायक

प्रदेश में यूरिया संकट के लिए जिम्मेदार किसान विरोधी कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा के विधायक बुधवार को पैदल मार्च कर विधानसभा पहुचेंगे। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के नेतृत्व में भाजपा विधायक 18 दिसंबर को सुबह प्रात: 10 बजे बिड़ला मंदिर से विधानसभा तक पैदल मार्च करेंगे। विधायकगण हाथों मे तख्ती और ऐप्रिन पहनकर प्रदर्शन करेंगें। भार्गव ने कहा कि प्रदेश में किसान हताश, निराश और लाचार है। एक वर्ष के भीतर सैकड़ों किसान आत्महत्या कर चुके हैं। कांग्रेस सरकार की झूठी कर्जमाफी के कारण किसान डिफाल्टर हो चुके हैं, उन्हे क्रॉपलोन नही मिल पा रहा हैं।

विधानसभा सत्र शुरू, पहले दिन दिवंगतों को किया याद

भोपाल। विधानसभा का शीतकालीन सत्र मंगलवार से शुरू होते ही दिवंगत नेताओं को याद किया गया और दो मिनट का मौन धारण करने के बाद कार्रवाई बुधवार सुबह 11 बजे तक स्थगित कर दी गई। विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने दिवंगत नेताओं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर और कैलाश जोशी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, एस.जयपाल रेड्डी, डॉ.जगन्नाथ मिश्र, राम जेठमलानी, पूर्व विधायक लक्ष्मीनारायण नायक, मेहरबान सिंह रावत, राजबहादुर सिंह और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का जीवन परिचय देकर शोक संवेदना जताई। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को सरल स्वभाव का बताया। जब मैं वाणिज्य मंत्री था तो गौर को जपान भेजा था। पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश राजनीति के संत थे।

22 हजार करोड़ का अनुपूरक बजट आज, यूरिया संकट पर होगी चर्चा : राज्य सरकार बुधवार को प्रथम अनुपूरक अनुमान प्रस्तुत करेगी। वित्त मंत्री तरुण भनोत विभिन्न विभागों के बजट की जानकारी देंगे। बजट अनुमान 22 हजार करोड़ से अधिक होगा। वहीं नियम 139 में लोक महत्व के अंतर्गत यूरिया संकट पर चर्चा होगी। साथ ही विधेयक, प्रतिवेदन पेश किए जाएंगे।