सरकार ने संभाली शराब दुकानें लगीं लंबी कतार

 10 Jun 2020 07:35 AM  8

जबलपुर । शहर में मार्च माह के अंतिम सप्ताह के बाद बंद शराब की दुकानें मंगलवार को खुल गईं । दुकानों के खुलते ही शराब के शौकीनों ने तमाम नियमों को दर किनार करते हुए कतार में बिना सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर शराब की खरीददारी की। शहर सहित प्रदेश के 12 जिलों में शराब की दुकानें मंगलवार से खुल गईं । ऐसा बताया जा रहा है कि नीलामी प्रक्रिया पूरी होने तक आबकारी विभाग इन दुकानों का संचालन करेगा। यूं तो जिले की सभी 144 देशी और अंग्रेजी दुकानें ठेकेदारों ने सरेंडर कर दी हैं, लेकिन जानकारी के अनुसार मंगलवार को पहले दिन विभाग ने 63 दुकानों का संचालन किया, जिसमें करीब 40 काउंटर देशी और 23 अंग्रेजी शराब दुकानें रहीं। मालूम हो कि हाईकोर्ट के अंतरिम आदेश के बाद प्रदेश की 67 फीसदी शराब की दुकानों ने सरेंडर कर दिया था। एक अनुमान के मुताबिक, सरकार को मई में 33 फीसदी दुकानों से 150 करोड़ रुपए की कमाई हुई है। प्रदेश में शराब की देशी 2,544 और विदेशी शराब की 1,061 दुकानें हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग ही नहीं नजर आईं 

मालूम हो के शहर में शराब की दुकानें करीब 70 दिन बाद खुली हैं, ऐसे में शराब के शौकीनों को जैसे ही खबर लगी, उन्होंने दुकानों की ओर रुख कर दिया, ऐसे में शहर की कई दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम हवा में उड़ते नजर आए, इसके साथ ही पुलिस व्यवस्था भी खास सख्त नहीं दिखी।