महिला स्व-सहायता समूहों को 4%ब्याज पर लोन देगी सरकार

 24 Jun 2020 12:46 AM  6

भोपाल। मध्यप्रदेश में 75 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान योजना में पंजीकृत किया गया है। अभी तक बैंकों ने 62 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी भी कर दिए हैं, फिर भी 13 लाख किसान क्रेडिट कार्ड से वंचित हैं। इनमें से अभी तक बैंकों ने 2.16 लाख किसानों के आवेदन स्वीकृत किए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मंत्रालय में बैंकर्स समिति की बैठक में 13 लाख किसानों को क्रेडिट कार्ड जारी नहीं किए जाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने बकाया किसानों को तत्काल केसीसी जारी करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने बैंकर्स से कहा कि नए युवा उद्यमियों को लोन दें। प्रदेश में स्व-सहायता समूह बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। महिला स्व सहायता समूहों को ब्याज अनुदान सरकार देगी मुख्यमंत्री ने बैंकर्स समिति की बैठक में कहा कि प्रदेश में महिला स्व-सहायता समूहों को कम से कम ब्याज दर पर विभिन्न आर्थिक गतिविधियों के लिए बैंक से कर्ज दिलवाने की योजना बनाई जा रही है। योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा ब्याज अनुदान दिए जाने का प्रावधान किया जा रहा है। इससे महिला स्व-सहायता समूहों को बैंकों को अधिकतम 4 प्रतिशत ही ब्याज देना पड़ेगा। सीएम ने कहा कि ऋण पर ब्याज 4 से 5% से ज्यादा नहीं होना चाहिए।