गुड्डू बेटे सहित कांग्रेस में लौटै, बोले-अब चैन की नींद सो पाऊंगा

गुड्डू बेटे सहित कांग्रेस में लौटै, बोले-अब चैन की नींद सो पाऊंगा

भोपाल । उज्जैन से पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू ने रविवार को भाजपा छोड़कर फिर कांगे्रस का दामन थाम लिया। अब गुड्डू का सांवेर से मंत्री तुलसी सिलावट के खिलाफ चुनाव लड़ने का रास्ता साफ हो गया है। गुड्डू अपने पुत्र अजीत बोरासी एवं महेश बोरासी के साथ दोपहर एक बजे प्रदेश कांगे्रस कार्यालय पहुंचे। पीसीसी में कांगे्रस पदाधिकारियों ने गुड्डू को सूत की माला पहनाकर और सदस्यता फॉर्म भरवाकर उन्हें कांगे्रस की विधिवत सदस्यता दिलाई। उधर, इस कार्यक्रम से पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह सहित अन्य नेताओं ने दूरी बनाई रखी। ये नेता गुड्डू की कांग्रेस में वापसी का विरोध कर रहे थे। कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करने के बाद गुड्डू पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ के निवास पहुंचे और उनसे मुलाकात की। इस मौके पर प्रदेश कांगे्रस के उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, रामनिवास रावत, जीतू पटवारी, महामंत्री राजीव सिंह आदि मौजूद थे। गुड्डू पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के काफी नजदीक रहे हैं, लेकिन पार्टी में उनकी वापसी के समय सिंह भोपाल में नहीं थे।

 जब तक भाजपा में था, एक भी रात ठीक से सो नहीं पाया

कांग्रेस की सदस्यता लेने के बाद गुड्डू ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रताड़ना से तंग आकर मैंने पार्टी छोड़ी थी। मैं जब सांसद था, तब सिंधिया केंद्र में मंत्री थे। उन्होंने एक भी योजना मेरे लोकसभा क्षेत्र के लिए नहीं दी। मैं वापस घर आकर बहुत खुश हूं,अब चैन की नींद सो पाऊंगा। उन्होंने कहा कि मैं जब तक भाजपा में था, तब तक एक रात भी ऐसी नहीं थी कि मैं चैन से सो पाया हूं।