पति बोला-राजनीति में आते ही धमका रही है, पत्नी बोली-इन्होंने मेरी कद्र नहीं की

 17 Jun 2020 01:12 AM  8

भोपाल। कुटुंब न्यायालय में लगभग एक साल पहले काउंसलिंग के लिए पहुंचे मामले में, लाख समझाने के बाद भी मियां-बीबी के बीच का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। लॉकडाउन में तो झगड़े इस कदर बढ़ गए कि मंगलवार को काउंसलर को मियां-बीबी की टेली काउंसलिंग तक करनी पड़ी। दरअसल, राजधानी के कटारा हिल्स क्षेत्र में रहने वाले कपल के बीच खाई तब बढ़ना शुरू हुई, जब पत्नी राजनीतिक पार्टी से जुड़ी। अब पति का कहना है कि इसके बाद से पत्नी उसे कमतर आंकने लगी है। वह ना केवल उसे धमकाती है, बल्कि बदसूरत, बदतमीज और ना जाने किन-किन नामों से पुकारती है। वहीं पत्नी का कहना है कि पति ने 29 साल की शादी में कभी उसकी कद्र नहीं की और अब पति को यह खलने लगा कि लोग उसे इज्जत देते हैं। मामले की काउंसलिंग कुटुंब न्यायालय की काउंसलर शैल अवस्थी कर रही हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के पहले पति-पत्नी को समझाकर घर भेजा था, लेकिन बीते हते पति ने फोन कर पत्नी को समझाने की गुजारिश की। जिसके बाद मामला शांत करवाने के लिए कपल की टेली काउंसलिंग की गई।

पत्नी चाहती है तलाक

मामले में पति सरकारी विभाग में कार्यरत है, जबकि पत्नी एक राजनीतिक पार्टी से जुड़ने के बाद गो-सेवा और राजनीति को ही अपना समय दे रही है। दंपति में दोनों ही एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। हालांकि, केवल पत्नी ही तलाक की जिद पर अड़ी है। जबकि, पति का कहना है कि उनकी शादी के लायक बेटी हो गई है और एक छोटा बेटा भी है। ऐसे में तलाक का फैसला बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने जैसा होगा।

पत्नी बोलीं- गोमाता का नाम सुनते ही पति भड़क जाते हैं

पत्नी का कहना है कि उसे गोमाता और समाज की सेवा करने में सुख मिलता है। लेकिन पति गो माता का नाम सुनते ही भड़क उठते हैं। पत्नी ने यह भी बताया कि शादी के बाद से उसे पति से अब तक हमेशा प्रताड़ना ही मिली है। इसीलिए चार साल पहले वह समाजसेवा की तरफ मुड़ गई, लेकिन अब पति को यह भी रास नहीं आ रहा है।