कोटा में रेल अधिकारी की पत्नी पर हमला करने वाला नौकरी से बाहर

 28 Jun 2020 02:02 AM  2

जबलपुर ।  पश्चिम मध्य रेल के कोटा वर्कशाप में पदस्थ डिप्टी चीफ मैकेनिकल इंजीनियर पीके सिंह के सरकारी बंगले में घुसकर उनकी धर्मपत्नी पर जानलेवा हमला करने वाला सीनियर सेक्शन इंजीनियर शिवप्रकाश मीणा को आखिर जीएम ने नोकरी से बाहर कर दिया। पमरे जीएम ने प्रमोटी अधिकारी एसोसिएशन की मांग पर उक्त निर्णय लिया है। इस संबंध में एसोसिएशन ने मांग पत्र जीएम को सौपा था। उल्लेखनीय है की 22 जून को कोटा वर्कशाप में पदस्थ डिप्टी सीएमई प्रमोद कुमार सिंह की पत्नी पर एसएसई शिव प्रकाश मीणा ने घर में घुसकर चाकू से प्राणघातक हमला किया था। उनकी चीख-पुकार सुनकर पड़ोस में रहने वाली रेल अधिकारी की बेटी इशिका यादव ने त्वरित कार्यवाही करते हुए हमलावर को दबोच लिया,जिससे अनहोनी घटना तो नहीं घट पाई। लेकिन उनके एक हाथ में चाकू लगने से लहूलुहान हो गया था। इस घटना से दुखी प्रमोटी अधिकारियो ने पमरे जीएम से दोषी को नोकरी से बर्खास्त करने की मांग की थी। इस संबंध में प्रमोटी अधिकारियों का कहना है कि जीएम ने बहुत अच्छा निर्णय लिया है इससे अब कभी भी कोई रेलकर्मी किसी भी अधिकारी के या उसके परिवार के ऊपर हमला करने के पहले सोचेगा।

आरोपी लाल झंडे का था पदाधिकारी

सूत्र बताते है कि उक्त मामले का आरोपी लाल झंडे का पदाधिकारी रहा। किसी खामी या हिटलरशाही के चलते उसे यूनियन से अलग करते हुए प्रमोद सिंह को पदाधिकारी बना दिया गया। इसके बाद से आरोपी द्विवेष की भावना रखने लगा और मौका मिलते ही उसने प्रमोद को सबक सिखाने उसकी पत्नी पर हमला किया है। कहा जाता है कि हर घटना के पीछे राज छिपा होता है।