अस्पतालों ने लौटाया, परेशान होकर मंदिर पर जा बैठा कोरोना संदिग्ध

Corona

अस्पतालों ने लौटाया, परेशान होकर मंदिर पर जा बैठा कोरोना संदिग्ध

ग्वालियर। कोरोना महामारी को लेकर जहां 24 घंटे ओपीडी चल रही है अलग से पॉजिटिव मरीजों के लिए सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाया गया है। ऐसे में एक कोरोना का सेंपल देने आया मरीज सुबह से लेकर शाम तक भर्ती होने के लिए परेशान होता रहा। ऐसे में सरकारी अस्पताल व प्राइवेट हॉस्पिटल की लापरवाही की वजह से एक कोरोना संदिग्ध मरीज कई घंटों तक इधर से उधर चक्कर काटता रहा और हार कर वह परिवार सहित अचलेश्वर मंदिर पर जाकर बैठ गया। मरीज के परिजन ने बताया कि हम जेएएच में बच्चे का कोरोना का सेंपल देने आए थे वहां इसका सेंपल तो ले लिया गया है, हमारे कहने पर इसको भर्ती नहीं किया गया है। जब हम घर पहुंचे तो मरीज की हालत बिगड़ गई और उल्टी करने लगा इसके बाद हम इसे लेकर गुढ़ी-गुढा का नाका स्थित तोमर हॉस्पिटल लेकर पहुंचे तो उन्होंने हमें वहां से लौटाकर जेएएच के सामने स्थित हॉस्पिटल में जाने को कह दिया। हम वहां पहुंचे तो उन्होंने भी सिटी सेंटर स्थित आरोग्यधाम जाने के लिए कह दिया, वहां से सरकारी अस्पताल में जाने को कह दिया इसके बाद थक हार कर हम अचलेश्वर मंदिर पर बैठ गए हैं। इसकी परेशानी देखते हुए पंचवटी वस्त्र नगर वेलफेयर सोसायटी के सदस्य प्रदीप कुमार गुप्ता, सतेंद्र तोमर एवं महेश प्रजापति सहित कुछ समाज सेवी आगे भी आए और उन्होंने प्रशासन तक इसकी बात पहुंचाई तब कहीं जाकर स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन जागा और 108 एंबुलेंस भेजकर इस मरीज को जेएएच में भर्ती कराया।